सुपौल। भाई-बहन के प्रेम का पर्व रक्षाबंधन सोमवार को मनाया जाएगा। आज भाईयों की कलाई पर राखी बांधकर बहना अपना बांधेंगी। बाजार में तीन रुपये से लेकर ढाई सौ रुपये तक की राखी उपलब्ध है। पर्व को लेकर बाजार में रविवार को छुट्टी का दिन और लॉकडाउन होने के बाद भी विशेष चहल-पहल दिखी।

राखी विक्रेता संतोष ने बताया कि इस साल राखी का बाजार पिछले जैसा नहीं रहा। एक तो कोरोना संक्रमण और दूसरा इसको लेकर लॉकडाउन के कारण बाजार में मंदी रही। बताया कि तीन रुपये से लेकर ढाई सौ रुपये तक की राखी उपलब्ध है। उन्होंने बताया कि राखी की कीमत उसमें लगे नग, मोती और धागे से तय होती है। अच्छी किस्म की राखियों में अच्छे नग व मोती के अलावा रेशम की डोर होती है जबकि कम कीमत वाली राखियों में इन बातों का ध्यान नहीं रखा जाता है। उन्होंने बताया कि पहले राखी से एक दिन पहले महिलाएं और युवतियों का झुंड दुकानों पर जमा रहता था लेकिन इस बार वैसा नहीं हो रहा है जो अच्छा भी है। कोरोना को लेकर शारीरिक दूरी का पालन अत्यंत जरूरी है। खैर दूसरी ओर मास्क लगाए महिलाएं और युवतियां राखी की खरीदारी करती दिखी। बाजार में कई जगहों पर फुटपाथ पर भी चौकी लगाकर राखी बेचते दुकानदार दिखे। मिठाई की दुकानों पर भी कम मात्रा में ही सही लेकिन पर्व को मिठाईयां तैयार की गई हैं। राखी बांधने के बाद बहनें अपने भाईयों को मिठाई खिलाती हैं इसलिए दुकानदारों ने इसकी भी तैयारी की।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस