संवाद सूत्र, प्रतापगंज(सुपौल): परमानंदपुर पंचायत के अड़राहा गांव में लगातार हो रही चोरी से भयभीत ग्रामीणों ने पुलिस-प्रशासन के वरीय पदाधिकारियों से पुलिस चौकी देने की मांग की है। उक्त पंचायत प्रतापगंज थाना क्षेत्र के अधीन आता है। जबकि प्रखंड क्षेत्र राघोपुर है। थाना से अड़राहा गांव की दूरी लगभग 12 किलोमीटर है। जिससे पुलिस को भी अपराधियों पर नियंत्रण पाने में कठिनाइयों से जूझना पड़ता है। वहीं ग्रामीणों को कई प्रकार की परेशानियां झेलनी पड़ रही है। इस संदर्भ में दर्जनों ग्रामीणों ने हस्ताक्षरित एक आवेदन पुलिस अधीक्षक को प्रेषित कर कहा है कि पिछले कई वर्षों से चोरों के आंतक से गांववासी भय के साए में जी रहे हैं। गत 28 नवम्बर की रात पुन: एक बार विभाष झा के घर अज्ञात चोरों ने घर का ताला तोड़कर नगदी सहित लाखों की चोरी को अंजाम दे दिया है। इसके पूर्व भी उनके भाई जयकृष्ण झा के घर में चोरों ने चोरी कर लाखों के जेवरात आदि चुरा लिया था। उसी गांव के महानंद झा के घर चोरी तो अड़राहा के ही एक स्वर्णकार के घर में डकैतों ने डकैती की घटना को भी अंजाम दिया था। लेकिन आज तक किसी भी घटना का उछ्वेदन करने में पुलिस को सफलता नहीं मिल सकी है। जिससे गांववासियों में भय व्याप्त है। अड़राहा वासियों का कहना है कि प्रतापगंज थाना से अरराहा गांव की दूरी 12 किलोमीटर है। थाना की दूरी होने के कारण हमलोग अपने आपको असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। ऐसे में सुरक्षा को देखते हुए अड़राहा गांव में पुलिस चौकी देने की मांग स्वीकृत की जाय। गत दिनों विभाष झा के घर हुई चोरी का कोई भी सुराग चार दिन बीतने के बावजूद पुलिस को हाथ नहीं लग सका है। ग्रमीणों ने पुलिस अधीक्षक को प्रेषित आवेदन की प्रतिलिपि आरक्षी महानिरीक्षक पटना, क्षेत्रीय उपमहानिरीक्षक दरभंगा और सहरसा को भी प्रेषित किया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस