सिवान। प्रखंड के विभिन्न विद्यालयों में खसरा एवं रुबैला राष्ट्रीय अभियान को लेकर 17 पंचायतों के लिए 17 स्वास्थ्य टीम गठित की गई है। सबसे पहले उच्च एवं उच्चतर विद्यालय के बच्चों को टीकाकरण अभियान शुरू होगा। इसके लिए सारी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। प्रारंभिक विद्यालयों में सोमवार को शिक्षकों के साथ बच्चों एवं अभिभावक की बैठक हुई। बैठक में अभिभावकों को खसरा एवं रुबैला रोगों के प्रति टीकाकरण के लिए जागरूक किया गया। इस संबंध में बीईओ अजय कुमार ने बताया कि सरकारी एवं निजी मकतब आदि विद्यालय में यह अभियान चलेगा। इसके अलावा बच्चों को चित्रकला के माध्यम से बीमारियों के लक्षणों को बताकर

जागरूक किया गया है। बच्चों के अंदर इन बीमारियों के बारे में पहले से जानकारी दी गई, ताकि किसी अभिभावकों या बच्चों को किसी प्रकार की टीकाकरण के दौरान दुविधा में नहीं रहें। सोमवार को प्रखंड के उत्क्रमित मध्य विद्यालय फतेहपुर से लेकर कई विद्यालय में अभिभावकों की बैठक की गई। बताया गया कि 15 जनवरी से सभी प्रखंड में खसरा रुबैला अभियान चलेगा जिसमें 9 माह से लेकर 15 वर्ष तक के सभी बच्चों को टीका देना है। एक बच्चे को पांच एमएल तक का खुराक दी जानी है, एक सीसी में दस बच्चों को खुराक दिया जा सकता है। अगर कोई बच्चा किसी प्रकार से बीमारी से तस्त्र तथा भूखा है उन्हें यह टीका नहीं देना है। ध्यान रहे कि बच्चे को खाना खिलाकर ही टीका देना है। उन्होंने बताया कि नर्स को टीकाकरण के लिए विशेष प्रशिक्षण दिया गया है। अगर टीकाकरण के दौरान किसी तरह की समस्या आ रही है तो उन्हें स्वास्थ्य केंद्र या स्वास्थ्य प्रबंधक से संपर्क कर सकते हैं। दारौंदा में करीब पचास हजार से अधिक बच्चों का टीकाकरण दिए जाने का लक्ष्य है।

Edited By: Jagran