Move to Jagran APP

लालू पुत्र तेजप्रताप का SC में बयान - 'हां, हत्यारोपी कैफ से लिया था बुके'

राजदेव रंजन हत्याकांड की सुनवाई आज सुप्रीम कोर्ट में हुई। इस दौरान बिहार के स्वास्थ्य मंत्री लालू यादव के बेटे तेजप्रताप यादव ने स्वीकार किया कि मोहम्मद कैफ से बुके लिया था।

By Kajal KumariEdited By: Published: Mon, 17 Oct 2016 07:13 PM (IST)Updated: Tue, 18 Oct 2016 05:47 PM (IST)

पटना [वेब डेस्क]। सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में सिवान के पत्रकार राजदेव रंजन हत्या कांड मामले में सुनवाई हुई जिसके दौरान बिहार के स्वास्थ्य मंत्री और लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने स्वीकार किया है कि उन्होंने हत्या के आरोपी से बुके स्वीकार किया था, लेकिन उन्होंने राजदेव रंजन की हत्या में किसी भी तरह से शामिल होने से इनकार किया है।

बिहार सरकार के वकील ने सुप्रीम कोर्ट में स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव का बचाव किया है। कोर्ट में बिहार सरकार ने कहा है कि तेज प्रताप के साथ आरोपी की फोटो तब सामने आई, जब उसके खिलाफ कोई गैर-जमानती वारंट जारी नहीं हुआ था।

वहीं तेज प्रताप यादव की तरफ से सुप्रीम कोर्ट में कहा गया है कि उन्होंने उनसे (पत्रकार के हत्या आरोपी से) गुलदस्ता लिया था लेकिन वह हत्या में शामिल नहीं है। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट अगली सुनवाई 28 नवंबर को होगी।

सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को दिया निर्देश-तीन महीने में जांच पूरी करे

वहीं इस मामले की सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को निर्देश दिया है कि वो तीन महीने में मामले की जांच पूरी करे। राजदेव रंजन की हत्या के पीछे बाहुबली नेता शहाबुद्दीन का हाथ होने की आशंका जताई गई है। राजदेव रंजन की पत्नी ने इस मामले का ट्रायल बिहार से बाहर कराने की मांग की है।

पढें - शार्प शूटर मोहम्मद कैफ के साथ अब नजर आए लालू पुत्र तेजप्रताप

कोर्ट ने कहा कि सिवान के सेशन जज सुप्रीम कोर्ट में रिपोर्ट दाखिल कर बताएं कि शहाबुद्दीन और तेज प्रताप को समारोह में बुके देने वाले फोटो के वक्त आरोपी मोहम्मद कैफ और मोहम्मद जावेद को क्या भगोड़ा घोषित किया गया था या गैर-जमानती वारंट जारी किया गया था या कोई और कार्रवाई की गई थी या नहीं।

तेजप्रताप ने कहा था मैं कैफ को नहीं जानता

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव ने तस्वीर में पत्रकार राजदेव रंजन की हत्या के आरोपी शार्प शूटर मोहम्मद कैफ के साथ दिखने के मामले में सफाई दी थी। उन्होंने कहा था कि कई लोग उनसे मिलने आते हैं और उनके साथ फोटो खिंचवाते हैं। सबको वह नहीं जानते हैं। उन्होंने इस मामले में बीजेपी पर साजिश करने का आरोप भी लगाया था।

पढ़ें - शार्प शूटर मोहम्मद कैफ ने कहा - एक क्रिकेटर भला पत्रकार को क्यों मारेगा?

बचाव में उतरे थे भाई तेजस्वी

वहीं बिहार के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भी अपने भाई और स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप का बचाव करते हुए कहा कि किसी के माथे पर नहीं लिखा होता कि वह अपराधी है।

कैफ ने तेजप्रताप को बताया था अपना हीरो

सीवान में पत्रकार राजदेव रंजन की हत्या का आरोपी और राज्य स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव के साथ तस्वीर में दिखने वाला शार्प शूटर मोहम्मद कैफ ने खुद को क्रिकेटर बताया। उसने दावा किया है कि पत्रकार राजदेव रंजन से उसके अच्छे संबंध थे। उनके घर में आना-जाना था इसलिए वह उनकी हत्या नहीं करवा सकता। मीडिया से रूबरू होते हुए हत्या के आरोपी मोहम्मद कैफ ने तेजप्रताप को अपना हीरो बताया था।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.