Move to Jagran APP

ट्यूबलाइट तोड़े जाने के विरोध में आगजनी कर सड़क जाम

सिवान : शनिवार की रात कथित तौर पर ताजिया जुलूस के दौरान दुर्गा पूजा पंडाल के पास सड़क पर

By JagranEdited By: Published: Mon, 02 Oct 2017 03:02 AM (IST)Updated: Mon, 02 Oct 2017 03:02 AM (IST)
ट्यूबलाइट तोड़े जाने के विरोध में आगजनी कर सड़क जाम

सिवान : शनिवार की रात कथित तौर पर ताजिया जुलूस के दौरान दुर्गा पूजा पंडाल के पास सड़क पर लगीं ट्यूबलाइटों को शरारती तत्वों द्वारा तोड़ दिए जाने के विरोध में रविवार की सुबह ही मखदुम सराय मोड़ पर लोगों ने आगजनी कर जाम लगा दिया। कहा कि जब तक उच्चाधिकारी नहीं आते, जाम नहीं हटेगा। इसके कारण करीब तीन घंटे तक बबुनिया मोड़ से होकर आना-जाना बंद रहा।

जानकारी मिलने पर इंस्पेक्टर सह नगर थाना प्रभारी सुबोध कुमार दल-बल के साथ मौके पर पहुंचे। उन्होंने लोगों को समझाने का काफी प्रयास किया लेकिन लोग वरीय अधिकारी को बुलाने की अपनी मांग पर कायम थे। करीब 11 बजे इंस्पेक्टर ने आश्वस्त किया कि इसमें शामिल शरारती तत्वों की पहचान कर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी, तब लोग माने। इसके कारण करीब तीन घंटे तक वहां पर अफरात-तफरी का माहौल रहा।

टयूब लाइट तोड़े जाने के बाद बढ़ा तनाव

दारौंदा (सिवान) : थाना क्षेत्र के कटवार गांव के काली मंदिर के समीप ट्यूब लाइट तोड़े जाने के बाद तनाव हो गया। पुलिस की मौजूदगी में दोनों पक्षों के बीच जमकर पथराव हुआ। बताया गया कि कि कटवार काली मंदिर के परिसर में आयोजित दुर्गा पूजा के लिए सड़क के किनारे ट्यूब लाइटें लगी हैं। रविवार की सुबह लोग ताजिया का जुलूस लेकर पूरब की ओर जा रहे थे, तभी एक युवक ने डंडा से मारकर ट्यूब लाइट को तोड़ दिया। फिर कई और जानबूझकर फोड़ दिए। देखते ही देखते तनावपूर्ण स्थिति हो गई। सूचना मिलते ही एसडीपीओ संजीत कुमार प्रभात, एसडीओ मंजीत कुमार, थानाध्यक्ष दरौंदा संजीत कुमार, सीओ अशोक कुमार चौधरी कटवार पहुंचे। पदाधिकारियों ने दोनों पक्ष से लोगों को बुलाया। एक पक्ष से पांच लोग आए लेकिन दूसरे पक्ष से काफी संख्या में लोग आ गए। इतने में दूसरे पक्ष के लोग भी दौड़ गए। फिर पथराव शुरू हो गया। काफी मशक्कत के बाद पुलिस ने स्थिति को काबू में किया। एसडीओ एवं एसडीपीओ महारजगंज लौट गए। पुन: सीओ दारौंदा अशोक कुमार चौधरी, थानाध्यक्ष संजीत कुमार, एसआइ भगवान तिवारी, एएसआइ शैलेश ¨सह, प्रखंड जदयू अध्यक्ष सुनील प्रसाद, कांग्रेस अध्यक्ष विजय शंकर दुबे, मुखिया संजय साह ग्रामीणों के साथ मिलकर दोनों पक्षों को बुलाकर शांति व्यवस्था बनाने की अपील की, तब जाकर स्थिति नियंत्रण में हुई।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.