सीतामढ़ी। सीएए और एनआरसी के विरोध में प्रखंड के बरहरवा गांव में अनिश्चितकालीन धरना जारी है। यह धरना सात दिन से चल रहा है। जिसमें शाहीन बाग की चर्चित दादी आसमा खातून शामिल हुई। इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि सीएए को जब तक वापस नहीं लिया जाएगा तब तक यह धरना। जारी रहेगा। आसमा खातून कहा कि यह काला कानून है। जो भारत में सेकुलरिज्म को खत्म करना चाहती है। सरकार के इस मंसूबे को हम लोग कभी कामयाब नहीं होने देंगे। इस दौरान तुपैद अहमद, मुमताज,इम्तियाज, इम्तियाज हुसैन,शेर अली,असफाक उर्फ चाँद,मशकूर रेजा,मोहम्मद सितारे, तनवीर, एजाज हुसैन, मारूफ, लड्डन,असफाक उर्फ मुन्ना,सदाकत हुसैन,कमुरुजम्मा, ओसामा, नयाब,असफाक उर्फ मुन्ना,मुख्तार आलम, साकिब, तम्मने, गुड्डू, लड्डू आदि सैकड़ों लोग शामिल थे सुरसंड विधायक ने किया धरना को संबोधित

परिहार (सीतामढ़ी) संस: प्रखंड के अनुसार बाजार सिसवा में बीते 31 जनवरी से नागरिकता संशोधन कानून एनआरसी एवं एनपीआर के विरोध में अनिश्चितकालीन धरना जारी है। सुरसंड के राजद विधायक सैयद अबू दुजाना ने धरना कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि यह कानून संविधान के विरुद्ध है। इसे किसी कीमत पर लागू नहीं होने दिया जाएगा। मौके पर अशफाक, मनोज राय, रामनाथ यादव, पवन कुमार मंडल, मास्टर आरिफ, एजाज, सऊद आलम, एमआई आदिल, खलील, रकीबुल, अहमद रेजा, सफदर रब्बानी, नजीर अहमद एवं मौलाना मुर्तुजा समेत सैकड़ों लोग मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस