सीतामढ़ी। भगवान श्री राम की बरात अयोध्या के कारसेवक पुरम से गुरुवार को धूमधाम से निकली। गाजे-बाजे के साथ साधु-संत और श्रद्धालु बरात में काफी उत्साहित हैं। धूमधाम से निकली यह राम बरात यात्रा 24 नवंबर को शाम में सीतामढ़ी आएगी। यहां रात्रि विश्राम के बाद अगले दिन सुबह जनकपुर के लिए रवाना होगी। 28 नवंबर को बरात जनकपुर पहुंच जाएगी। एक दिसंबर को प्रभु श्रीराम और माता सीता का विवाह होगा। आयोजन समिति के संयोजक नितेश कुमार भारद्वाज ने बताया कि इस बरात में भगवान श्रीराम, लक्ष्मण, भरत, शत्रुध्न के विग्रह के साथ उनके स्वरूप को भी झांकी के रूप में जनकपुर ले जाया जा रहा है । इस बार बरात में दो सुसज्जित रथ आकर्षण के केंद्र हैं ।

भव्य स्वागत की तैयारी

अयोध्या मुद्दे पर आए अहम फैसले के बाद निकाली जा रही भगवान श्रीराम की बरात इस बार बेहद खास है। बरात में रामजन्म भूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य और मणिराम दास छावनी के उत्तराधिकारी महंत कमल नयन दास भी आ रहे हैं। कारसेवक पुरम से निकली बारात अयोध्या, आजमगढ़, बक्सर, पाटलिपुत्र, सीतामढ़ी, दरभंगा, बासोपट्टी होते हुए मटिहानी पहुंचेगी । जहां जनकपुर के लोग इस बरात का भव्य स्वागत करेंगे । खास बात ये है कि, जनकपुर में पहली बार विश्व हिदू परिषद के धर्म यात्रा महासंघ द्वारा 108 गरीब कन्याओं का प्रभु राम के विवाह के दौरान सामूहिक विवाह का कार्यक्रम भी है । साथ ही 1100 कन्याओं का पूजन भी होगा । श्री राम बरात में दशरथ की भूमिका में संघ समिति के अध्यक्ष महंत कन्हैया दास हैं। शुक्रवार को यात्रा समिति की ओर से मुठिया बाबा को आमंत्रित किया गया। मुठिया बाबा ने मुरादपुर, डुमरा में अपने स्तर से स्वागत करने की इच्छा व्यक्त की है। साथ ही आयोजन समिति के साथ नगर एवं जानकी मंदिर में भी भरपूर सहयोग करने का आश्वासन दिया। मौके पर राजू कुमार,अरुण कुमार, रंजय कुमार सर्राफ, प्रदीप कुमार गुप्ता, आलोक कुमार, अमरेन्द्र कुमार, दिवाकर कुमार, आशीष कुमार, विशाल कुमार, गौतम कुमार, राजेश सिंह, मनीष कुमार, दिलीप कुमार, प्रिस कुमार, मुन्ना जी, अजय शर्राफ, प्रमोद शर्राफ, शशि भूषण कुमार, मोहित आनंद, सहित अन्य सदस्यगण उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस