सीतामढ़ी। गुरु पूर्णिमा रविवार को मनाया जाएगा। इस दिन गुरु पूजा की है परंपरा। लेकिन, कोरोना का असर इस पर्व पर पड़ता दिख रहा है। अधिकतर जगहों पर गुरु पूर्णिमा उत्सव ऑनलाइन मनेगा। शिष्य अपने गुरु का ऑनलाइन दर्शन कर आशीर्वाद लेंगे। कुछ जगहों पर शिष्य अपने गुरु से मिलेंगे भी तो नियमों की सख्ती होगी। स्कूलों में इस दिन बड़े आयोजन होते हैं, लेकिन बंद होने के कारण यह भी नहीं होगा। यह उत्सव इस बार घरों में ही मनाया जाएगा। गुरु पूर्णिमा का क्या है महत्व:

गुरु पूर्णिमा के साथ चर्तुमास प्रारंभ होता है। भगवान विश्राम करने चले जाते हैं। इस दिन महर्षि वेद व्यास व गुरु वृहस्पति की पूजा होती है। श्रद्धालु व्रत रखकर दान करते हैं और पुण्य के भागी होते हैं। जीवन में गुरु का दर्जा भगवान से भी उपर है। गुरु से ज्ञान, जीवन जीने की कला तथा मोक्ष की प्राप्ति होती है। गुरु जहां भी रहते हैं वहां जाकर उनका पूजन और दर्शन करते हैं। कथा के दौरान प्रसाद के रूप में खीर, मालभोग व ऋतु फल अर्पित किया जाता है। कथा के बाद गुरु से आशीर्वाद लेकर प्रसाद का वितरण किया जाता है।

-- आचार्य सुमन झा। वैदेही वल्लभ निकुंज मंदिर, अंचल गली।

-------------------------------------------------------

छात्र मणिकांत झा हिमांशु ने कहा कि जीवन में गुरु का विशेष महत्व है। गुरु अंधेरे से शिष्य को प्रकाश में लाता है। प्रतिवर्ष गुरु पर्णिमा के अवसर पर गुरु से मिलकर उनका आशीर्वाद लेते हैं। लेकिन, इस बार वीडियो कॉलिग कर गुरु का आशीर्वाद लेंगे।

छात्र सुंदरम कुमार ने कहा कि गुरु न हो तो जीवन भी कुछ भी हासिल करना कठिन है। प्रतिवर्ष गुरु पूर्णिमा के दिन गुरु को सम्मानित कर आशीर्वाद लेते रहे हैं। लेकिन, इस बार ऐसा संभव नहीं है। फोन कर उनसे आशीर्वाद लूंगा।

छात्र राघव कुमार ने कहा कि गुरु का दर्जा माता-पिता के समान होता है। जो कड़े वचन बोल कर भी हमें जीवन जीने की राह दिखाते हैं। इस बार फोन से ही गुरु को नमन कर आशीर्वाद लेंगे।

------------------------------------------------------------

एसएलके कॉलेज के प्राध्यापक प्रो.ललन कुमार राय व प्रो.आलोक कुमार बतातें हैं कि प्रतिवर्ष कॉलेज में छात्रों द्वारा गुरु सम्मान समारोह का आयोजन किया जाता रहा है। लेकिन इस बार कोरोना के कारण कॉलेज बंद है। छात्रों ने फोन कर समारोह को लेकर मार्गदर्शन मांगा है। लेकिन, उन्हें घर में ही रहने की सीख दी गई है। उनलोगों ने कहा है कि वीडियो कॉलिग कर आशीर्वाद लेंगे तथा कॉलेज खुलने पर समारोह का आयोजन करेंगे। उन्होंने छात्रों से कोरोना से बचाव के लिए मास्क इस्तेमाल करने व शारीरिक दूरी का पालन करने की अपील की है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021