सोनबरसा (सीतामढ़ी)। कन्हौली थाना क्षेत्र के रामनगरा गांव में वार्ड सदस्य की पुत्री के शादी समारोह में स्थानीय मुखिया व पूर्व मुखिया के समर्थकों में सिर फुटौव्वल हो गया। आपसी रंजिश में दोनों तरफ से जमकर मारपीट हुई। जमकर लाठी-डंडे चले जिसमें मुखिया पुत्र सहित आधा दर्जन लोग जख्मी हो गए। जख्मी के इलाज के दौरान सोनबरसा अस्पताल में भी दोनों पक्ष आपस में भिड़ गए। अस्पताल में भी जमकर बवाल हुआ। अस्पताल में तोड़फोड़ भी की। स्थिति इतनी भयावह हो गई कि डाक्टर व कर्मियों को जान बचाकर एक कमरे में खुद को कैद कर लेना पड़ा। उपद्रव में अस्पताल के मेन गेट का शीशा, वाटर कूलर क्षतिग्रस्त हो गया। चिकित्सकों को पुलिस बुलानी पड़ गई। पुअनि जितेंद्र कुमार सिंह दलबल के साथ पहुंचे और स्थिति को नियंत्रित किया। प्राथमिक उपचार के बाद चार जख्मी को रेफर कर दिया गया। घायलों में रामनगरा गांव निवासी विलास राय के पुत्र गोविद कुमार, संजय यादव, मुखिया पुत्र चंदन यादव, परसा खुर्द से राकेश कुमार, बीरेंद्र कुमार, नरेश राय शामिल हैं।

जानकारी के अनुसार, भलुआहा पंचायत के वार्ड संख्या-11 से वार्ड सदस्य दयाली देवी की पुत्री गुड्डी कुमारी की शादी थी। इस समोराह में मुखिया बिलट राय भी आमंत्रित थे। वार्ड सदस्या के पति संजय राय ने बताया कि करीब नौ बजे मुखिया अपने पुत्र चंदन कुमार के अलावा दो-तीन लोगों के साथ कार से आए थे। इसी दौरान गांव के रामगीर राय, गोविद राय, नरेश राय के साथ कुछ अन्य लोग आकर मुखिया से बातचीत करने लगे। इसके बाद दोनों पक्षों में कहासुनी और हाथापाई होने लगी। देखते ही देखते लाठी-डंडे चलने लगे। फायरिग भी हुई। जिससे शादी समारोह में भगदड़ मच गई। घटना में संजय राय की जेब से 25 हजार रुपये निकाल लिए गए। उसी बीच मुखिया द्वारा कन्हौली पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने पहुंचकर स्थिति को नियंत्रण में किया। जख्मी को इलाज के लिए सोनबरसा पीएचसी में भेजा। इलाज के दौरान मुखिया बिलट राय भी पहुंचे। सूचना पर पूर्व मुखिया मुकेश कुमार भी करीब 11 बजे पहुंचे। जिससे दोनों पक्ष फिर आमने सामने हो गए। दोनों तरफ से मारामारी शुरू हो गई। अस्पताल परिसर रणभूमि में तब्दील हो गया। चिकित्सक विवेक कुमार ने बताया करीब 11 बजे जख्मी गोविद कुमार के साथ कई जख्मी इलाज के लिए आए थे। उनके साथ दर्जनों लोग थे। अचानक दोनों पक्षों में बहस होने लगी। फिर मारपीट शुरू हो गई। स्थिति इतनी भयावह थी कि हमलोग जान बचाकर एक रूम में बंद हो गए। तीन लोगों को सीतामढ़ी रेफर किया गया। बताया जा रहा है वार्ड सदस्य मुखिया समर्थक हैं जबकि गोविद कुमार पूर्व मुखिया के समर्थक हैं। दोनों ओर से एक-दूसरे पर हवाई फायरिग करने का आरोप लगाया जा रहा है। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डा. कन्हैया कुमार ने बताया कि अस्पताल परिसर में हुई घटना व तोड़फोड़ के लिए प्राथमिकी दर्ज कराई जाएगी। उधर, पुलिस ने गोली चलने की बात की पुष्टि नहीं की है। कहा है कि घटना की छानबीन की जा रही है।

Edited By: Jagran