जासं, सीतामढ़ी : सीतामढ़ी का लाइफलाइन लक्ष्मणा नदी की उड़ाही के लिए भारत व नेपाल की संयुक्त टीम सर्वेक्षण करेगी। जिसके आधार पर डीपीआर तैयार किया जाएगा। नगर विधायक सुनील कुमार पिंटू द्वारा विधान सभा में किए गए प्रश्न के जबाब में बताया गया है कि लखनदेई नदी का उद्गम नेपाल से है। इस नदी का जो भाग सीतामढ़ी नगर से होकर प्रवाहित होता है, वह नदी का पुराना एवं मृत धार हो गया है। भारत-नेपाल सीमा के 8 किलोमीटर उतर नेपाल भू-भाग से ही नदी तल सिल्टेड है, जिसके कारण नदी अपनी पूर्व की दिशा बदलते हुए अधवारा समूह की जमुरा नदी में मिल गई है। लखनदेई नदी को पुरानी धार में लाने के लिए भारतीय भू-भाग में नदी की उड़ाही से पानी का बहाव तब तक नही होगा, जब तक कि नेपाल भू-भाग में 8 किलोमीटर की लम्बाई में सिल्ट की उड़ाही नही करा ली जाती है। विभाग द्वारा लखनदेई नदी की पुरानी धारा की उड़ाही की उपयोगिता पर एक उच्चस्तरीय तकनीकी समिति का गठन कर सुझाव प्राप्त किया गया है। समिति के सुझाव के आलोक में भारत एवं नेपाल की संयुक्त टीम द्वारा सर्वेक्षण कराकर डीपीआर तैयार किया जाएगा।