जिला से अलग-थलग पड़े पांची गांव के ग्रामीणों ने शेखपुरा आकर डीएम से अपनी गुहार लगाई। इन ग्रामीणों ने डीएम से मिलकर नदी के बहाव में टूटी गांव की सड़क तथा नदी के तटबंध को तुरंत जोड़ने की गुहार लगाई। ग्रामीणों ने बताया कि पिछले सप्ताह नदी में आई बाढ़ की वजह से पांची गांव के पास 60 फीट लंबा तटबंध टूट गया है। इससे पांची के साथ-साथ कबीरपुर,रहिचा,मीरबीघा गांवों का सड़क संपर्क पूरी तरह भंग हो गया है। बताया कि गांव से बाहर निकलने या फिर शेखपुरा आने के लिए लोगों को पहले नालंदा जिला जाना पड़ता है। उसके बाद सड़क मार्ग से शेखपुरा या अंयत्र जाना पड़ता है। सबसे अधिक परेशानी प्रसूता महिलाओं तथा बीमार लोगों को हो रही है। छात्र-छात्राओं का स्कूल जाना भी प्रभावित हो रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि इसी नदी की वजह से नालंदा जिला में भी नदी का तटबंध टूटा है। मगर नालंदा जिला प्रशासन की सक्रियता की वजह से वहां के तटबंध को ठीक भी कर लिया गया। मगर शेखपुरा जिला प्रशासन की निष्क्रियता की वजह से यहां का टूटा तटबंध अभी तक जस का तस है। जरुरी काम निबटाने के लिए लोगों को जान खतरे में डालकर टूटे तटबंध के पानी में घुसकर आना-जाना पड़ता है।     

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप