शेखपुरा । लगभग ढाई महीने पहले स्कूली बच्चों ने जो पहल शुरू की तो वह आज बुधवार को रामरायपुर मिडिल स्कूल में मूर्त रूप ले लिया। स्कूल के छात्र-छात्राओं की एक बड़ी ही रचनात्मक पहल के तहत इस सरकारी स्कूल में पुस्तकालय की स्थापना की गई है। बुधवार को विशेष कार्यक्रम के दौरान नीति आयोग के सलाहकार तथा वरिष्ठ आइएएस आलोक कुमार ने इस पुस्तकालय का विधिवत उद्घाटन किया। यहां यह बता देना भी जरूरी है कि 31 जनवरी 2019 के अंक में दैनिक जागरण ने प्रथम पृष्ट पर रामरायपुर स्कूल के बच्चों की इस पहल को प्राथमिकता देते हुए पुस्तकालय के लिए गली-गली चंदा मांगने की खबर को फोटो सहित प्रथम पन्ने पर प्रकाशित किया था। बुधवार को जब दिल्ली में बैठने वाले वरिष्ठ आइएएस अधिकारी आलोक कुमार शेखपुरा के रामरायपुर में आकर इस पुस्तकालय का उद्घाटन किया तो स्कूल के बच्चों तथा शिक्षकों के साथ समूचे गांव में एक अजीब सी ़खुशी तैर गई। बच्चों के प्रयास से शुरू किये गए इस पुस्तकालय का उद्घाटन करते हुए नीति आयोग के सलाहकार ने कहा कि शेखपुरा जिला के एक छोटे से गांव रामरायपुर के स्कूली बच्चों की यह पहल समूचे देश में रचनात्मकता की बड़ी मिसाल बनेगी। इस अवसर पर गांव के ग्रामीण के साथ डीडीसी, डीईओ तथा अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे। इस बाबत स्कूल के एचएम ललन कुमार ने बताया कि स्कूल में स्थापित इस पुस्तकालय के लिए स्कूल के बच्चों ने गांव में घर-घर जाकर धन संग्रह किया है। उन्होंने बताया कि स्कूल के पुस्तकालय संचालन के लिए एक कमेटी बनाई गई है। पुस्तकालय में स्कूल से जुड़ी किताबों के साथ स्कूली बच्चों में बौद्धिक विकास से संबंधित भी कई तरह की किताबों का संग्रह रखा गया है।  

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप