शेखपुरा। एससी-एसटी एक्ट पर केंद्र सरकार द्वारा लाये गये अध्याधेश के खिलाफ भारत बंद का जिला में भी असर दिखा। गुरुवार को विभिन्न सवर्ण संगठनों द्वारा आहूत बंद के दौरान जिला में बंद समर्थकों ने शेखपुरा जिला में ट्रेन रोक कर केजी लाइन पर रेल अवागमन को बाधित किया तथा विभिन्न स्थानों पर सड़क पर जाम लगाकर जिला में राष्ट्रीय उच्च पथ एवं राजकीय उच्च पथ के साथ जिला मुख्यालय को जोड़ने वाली विभिन्न संपर्क सड़कों पर भी यातायात को बाधित किया। इसी बंद में शेखपुरा-बरबीघा के बीच एनएच पर टाटी पुल के पास बंद समर्थक तथा विरोधियों के बीच ¨हसक झड़प हो गई। बाद में यहां पुलिस ने स्थिति संभाली। टाटी पुल पर जबरन सड़क जाम लगाये लोगों ने कारे गांव के एक व्यक्ति के साथ मारपीट की,जिससे यह भिड़ंत हुई। इधर भारत बंद को लेकर बंद समर्थकों ने गुरुवार को जिला में जमकर अपनी ताकत दिखाई। बंद को लेकर जिला में शुरुआत बरबीघा से हुई तथा शेखपुरसराय तक पहुंच गई। दोपहर तक शेखपुरा तथा इसके आस-पास का इलाका बंद के प्रभाव से दूर था,मगर दोपहर बाद इसकी आग शेखपुरा से सिरारी तक पहुंच गई। दोपहर तक शेखपुरा के टाटी पुल सिरारी,अवगिल,नीमी,आदि स्थानों पर भी बंद समर्थक सड़क पर उतर आये 7विभिन्न जगहों पर बंद समर्थकों ने सड़क पर टायर जलाकर अपना विरोध प्रर्दिशत किया। क्यूल-गया रेलखंड पर शेखपुरा स्टेशन के दोनों तरफ बंद समर्थकों ने शीशम तथा काशीचक में ट्रेनों को रोककर इस रूट पर ट्रेनों का आवागमन भी ठप कर दिया। आग भड़कने के डर से मजिस्ट्रेट तथा पुलिस भी बंद समर्थकों के खिलाफ किसी तरह की सख्ती से परहेज किया।

Posted By: Jagran