शिवहर। सरकार प्रायोजित योजनाओं का लाभ किसानों तक पहुंचाकर खेतों में हरियाली और किसानों की जिदगी में खुशहाली लाई जाएगी। इसके लिए डीएम मुकुल कुमार गुप्ता ने पहल शुरू कर दी है। डीएम ने पंचायतवार किसानों का सर्वेक्षण कराने का आदेश दिया है। सर्वेक्षण की जिम्मेदारी किसान सलाहकारों को दी गई है। इसके तहत किसान सलाहकारों द्वारा कृषि विभाग द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ लेने को इच्छुक किसानों का सर्वेक्षण किया जाएगा। वहीं इसकी रिपोर्ट सौंपी जाएगी। इस सर्वेक्षण से कृषि विभाग द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ लेने के लिए इच्छुक किसानों की पंचायतवार एवं योजनावार सूची तैयार की जाएगी। इसके आधार पर किसानों तक योजनाओं का लाभ पहुंचाया जाएगा। डीएम ने सर्वेक्षण के लिए 15 जून का समय तय किया है। यह निर्देश समाहरणालय में आयोजित कृषि विभाग की समीक्षात्मक बैठक में डीएम ने दिए। डीएम श्रभ् गुप्ता ने कहा कि, जिला कृषि कार्यालय, आत्मा कार्यालय, पौधा संरक्षण, उद्यान कार्यालय, मिट्टी जांच प्रयोगशाला और कृषि विज्ञान केंद्र आदि के बेहतर समन्वय से जिले के किसानों की आय में वृद्धि हो सकती है। बैठक के दौरान डीएम ने कृषि यंत्रीकरण योजना, मुख्यमंत्री तीव्र विस्तार योजना, एकीकृत बीज ग्राम योजना, मिनी किट योजना, हरित क्रांति उप योजना, रफ्तार योजना, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन, जल संचयन, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि व प्रधानमंत्री किसान क्रेडिट कार्ड योजना की समीक्षा की। साथ ही किसान सलाहकार और कृषि समन्वयकों से योजनावार जानकारी ली। डीएम ने कहा कि पंचायतों में किसान सलाहकार की भूमिका महत्वपूर्ण है। किसान सलाहकार को कृषि विभाग द्वारा संचालित सभी योजनाओं की पर्याप्त जानकारी रखनी होगी। साथ ही किसानों को योजनाओं की जानकारी देने तथा इन योजनाओं का लाभ उठाने के लिए किसानों को सहयोग के निर्देश दिए। मौके पर जिला कृषि पदाधिकारी कमलेश कुमार, सहायक निदेशक उद्यान सुधीर कुमार, आत्मा के सहायक निदेशक रिशु कुमार समेत कृषि समन्वयक, एटीएम, बीटीएम व किसान सलाहकार आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran