शिवहर। डुमरी कटसरी में मंगलवार को प्रखंड क्षेत्र में हुई तेज हवा के झोंको के ओलावृष्टि एवं बारिश से गेहूं, मक्का, आम, लीची आदि फसलों को भारी क्षति पहुंची है। किसानों ने अपने दर्द बयां करते हुए कहा है कि कर्ज लेकर मेहनत मजदूरी कर फसल आबाद किया जो ओले की भेंट चढ़ गई। प्रकृति ने किसानों के हाथ का मानो निवाला छीन लिया है। किसान को अपने भविष्य की चिता सताने लगी है। प्रखंड क्षेत्र के आठों पंचायत इस प्राकृतिक आपदा के शिकार हुए हैं। पहाड़पुर निवासी किसान सुनील कुमार सिंह ने कहा कि किसानों के आंखों के सामने अंधेरा दिखाई दे रहा है। वहीं गाजीपुर निवासी सुरेश सिंह, श्यामपुर निवासी शंकर मांझी ने बताया कि कर्ज लेकर बड़ी उम्मीद से खेती की थी। प्रकृति के इस तांडव ने किसानों की मानो कमर ही तोड़ दी है।

Posted By: Jagran