शिवहर। जिला स्तरीय बैंकर्स समिति की बैठक डीएम अवनीश कुमार सिंह की अध्यक्षता में सोमवार को हुई। इस दौरान डीएम ने विभिन्न बैंकों के अधिकारियों को जहां साख जमा अनुपात बढ़ाने का निर्देश दिया। कहा कि आर्थिक विकास में बैंकों की बड़ी भूमिका है। सभी बैंक शाखा प्रबंधकों को अपने अनुसार उद्यमी उम्मीदवारों को रोजगार ऋण देने का निर्देश दिया। वहीं केसीसी एवं शिक्षा ऋण को प्राथमिकता देने की बात कही ताकि समाज में बेहतर संदेश जाए। पीएमईजीपी ऋण के तहत सभी बैंकर्स द्वारा योग्य उम्मीदवारों का चयन कर लाभान्वित करने का निर्देश दिया गया। गव्य विकास पर बल दिया गया वहीं कहा कि यह योजना किसानों की माली हालत में बदलाव लाएगी। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना की बाबत जानकारी दी गई कि इसके अंतर्गत पचास हजार से पांच लाख रुपये तक के ऋण की सुविधा है। यह योजना बेरोजगारों के लिए वरदान साबित हो रही है इसे गंभीरता से प्रतिपादित करें। बैठक के दौरान जीविका के अधिकारी से उनके द्वारा प्रदत्त ऋण राशि का क्या लाभ मिल रहा है वहीं इस ऋण के सदुपयोग का अनुपात क्या है? तत्संबधी प्रतिवेदन की मांग की गई।

सभी बैंक अधिकारियों को यह भी निर्देश दिया गया कि ऋण की उगाही में तत्परता दिखाएं। वहीं प्रखंडवार सूची बनाकर शिविर आयोजित कर ऋण वसूल करें। इस काम में जिला प्रशासन भी हरसंभव सहयोग करेगी। बैठक में डीडीसी मो. वारिस खान, डीआरडीए निदेशक रवींद्र कुमार, बैंक ऑफ बड़ौदा के डीआरएम सीवीपी वर्मा एलडीएम सुमन कुमार, नाबार्ड के प्रमोद कुमार, वरीय प्रबंधक भास्कर कुमार, आर-सेटी निदेशक एके झा एवं विभिन्न बैंकों के शाखा प्रबंधक मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप