Move to Jagran APP

विजिलेंसें ने चार ट्रेनों में की छापेमारी, एक बेडरौल कर्मचारी गिरफ्तार

 छपरा। पूर्वोत्तर रेलवे के छपरा जंक्शन पर विजिलेंस की टीम ने मंगलवार को चार ट्रेनों में छापेमारी की और बेड रोल लगाने वाले एक कर्मचारी को पकड़ लिया । पकड़े गए कर्मचारी को विजिलेंस की टीम अपने साथ लेकर गोरखपुर चली गई ।

By JagranEdited By: Tue, 08 Jan 2019 08:58 PM (IST)
विजिलेंसें ने चार ट्रेनों में की छापेमारी, एक बेडरौल कर्मचारी गिरफ्तार

 छपरा। पूर्वोत्तर रेलवे के छपरा जंक्शन पर विजिलेंस की टीम ने मंगलवार को चार ट्रेनों में छापेमारी की और बेड रोल लगाने वाले एक कर्मचारी को पकड़ लिया । पकड़े गए कर्मचारी को विजिलेंस की टीम अपने साथ लेकर गोरखपुर चली गई । बताया जाता है कि ट्रेनों के एसी कोच में यात्रियों को दी जाने वाली कंबल, बेड रोल आदि की चोरी होने की शिकायत रेल प्रशासन को लगातार मिल रही थी, जिसके मद्देनजर विजिलेंस टीम ने छापेमारी की । छापेमारी के दौरान बिहार संपर्क क्रांति सुपरफास्ट ट्रेन के एसी कोच के बेड रौल  लगाने वाले कर्मचारी को पकड़ लिया । इसके अलावा वैशाली सुपरफास्ट, डाउन स्वतंत्रता सेनानी और कई अन्य ट्रेनों में भी इसकी जांच की गई,  हालांकि इस मामले में विजिलेंस टीम ने पत्रकारों को कुछ भी बताने से इंकार किया । रेलवे का आरोप-यात्री गायब करते है कंबल

रेलवे.हम बेहतर इसे बनाए और इसका लाभ उठाएं रेलवे. रेल आपकी संपत्ति है। अकसर रेलवे स्टेशनों पर घोषणा होती रहती है लेकिन रेल में चलने वाले यात्रियों ने इसमें मिलने वाले सामान को ही अपना सामान मान लिया है और जब वो अपने गंतव्य पर पहुंचते हैं तो ट्रेन में मिले तकिये, चादर और तौलिये को अपने साथ ले जाते हैं। रेलवे को हर साल इससे लाखों का चूना लग रहा है।  पिछले छह महीने में 79 हजार 350 तौलिये, 27 हजार 545 चादरें, 21 हजार 50 तकिया के कवर, दो हजार 150 तकिया और दो हजार 65 कंबल गायब किए गए, जिनकी कुल कीमत लगभग 62 लाख रुपए है।