सारण : विहंगम योग संस्थान झूंसी इलाहाबाद, यूपी के तत्वावधान में संपूर्ण भारत में स्वर्वेद यात्रा के आयोजन की कड़ी में सारण प्रमंडल के मुख्य आश्रम ¨सगही मे स्वर्वेद यात्रा का आयोजन किया गया। यह यात्रा ¨सगही आश्रम से निकल कर डुमरी, चन्देल टोला , शनिश्चरा टोला इत्यादि विभिन्न गांवों से होकर गुजरी। जिसमें सैकड़ों की संख्या में गुरु शिष्य भाई बहन ने भाग लिए।

सभी लोग हाथों मे'अ'अंकित श्वेत ध्वजा लिए हुए थे एवं भजन कीर्तन गाते हुए ग्रामीणों के बीच आकर्षण पैदा कर रहे थे । इस यात्रा में छपरा , दिघवारा , सिवान , गोपालगंज सहित पुरे प्रमंडल से गुरु शिष्य भाई बहनों ने हिस्सा लिया। इस अवसर पर यात्रा में शामिल शिष्य पूर्व मुखिया वीरेन्द्र साह ने बताया कि इस स्वर्वेद यात्रा का मुख्य उदेश्य विधा विहंगम योग द्वारा विश्वशांति की स्थापना है स्वर्वेद परमात्मा के ज्ञान का सदगुरु धाराश्रित वैदिक रहस्यों का सारगर्भित साधना पद्धति है जिसमे व्यक्ति मुल्यो का नैतिक चरित्र निर्माण के साथ साथ जीवन जीने की कला बतलायी गयी है । स्वर्वेद महर्षि सदगुरु सदाफलदेव जी महाराज के सत्रह की कठिन साधना के पश्चात अनुभव के धरातल से निकली चेतन ब्रम्ह ज्ञान की युक्ति है। स्वर्वेद आध्यात्मिक जगत का एक मात्र चेतन ज्ञान अनुभव रहस्यों का वृतांत है जिसमे आत्म अनुभव , मन निग्रह , परमात्मा ज्ञान की वैदिक रिति का आसान शब्दों मे व्याख्या किया गया है । संपूर्ण विश्व विहंगम योग के मुख्य भौतिक आध्यात्मिक सदग्रन्थ स्वर्वेद को जाने , पढ़े तथा शारीरिक , मानसिक , बौधिक एवं आध्यात्मिक लाभ उठावें इसी उद्देश्य से इस स्वर्वेद यात्रा का आयोजन किया गया ।

इस यात्रा में मुख्य रुप से पूर्व मुखिया वीरेन्द्र साह, पूर्व जिला परिषद कार्यकारी अध्यक्ष राजेन्द्र राय , शिवनाथ राय , महात्मा महतों , बलराम अग्रवाल , उदय शंकर साह , विनोद साह , संजय यादव , भाग्यनारायण ¨सह आदि लोगों ने भाग लिया ।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस