समस्तीपुर। अनुदान की मांग को लेकर शशि कृष्णा महाविद्यालय थतिया के शिक्षक व शिक्षकेत्तर कर्मियों का अनिश्चितकालीन धरना मंगलवार को दूसरे दिन भी जारी रहा। कॉलेज परिसर में प्रधानाचार्य के सामने धरना पर बैठे दर्जनों कर्मी अनुदान मिलने तक आंदोलन जारी रखने की बात कही। कर्मियों ने कॉलेज से बराबर अनुपस्थित रहने वाले शिक्षकों द्वारा गलत आवेदन देकर सरकार एवं विश्वविद्यालय को दिगभ्रमित करने का आरोप लगाते हुए विश्वविद्यालय प्रशासन पर भी पक्षपात करने का आरोप लगाया है। इसके कारण काम करने वाले शिक्षकों के समक्ष भूखमरी की स्थिति तथा कॉलेज में अराजक स्थिति होने की बात कही। कतिपय अनियमित शिक्षकों द्वारा बेवजह परेशान करने की नीयत से जगह-जगह आवेदन देने की बात कही है। साथ ही इससे संबंधित जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी के समक्ष दायर वाद को अस्वीकार कर दिया गया है। बावजूद विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा अनुदान नहीं देना शिक्षक व कर्मियों के साथ सरासर अन्याय है। कॉलेज के महज दो-तीन ऐसे शिक्षक व कर्मी हैं,जो अन्यत्र कार्यरत हैं। उनके द्वारा कॉलेज व विश्वविद्यालय प्रशासन को गुमराह करने की बात कहते हुए विश्वविद्यालय प्रशासन से अविलंब अनुदान की राशि विमुक्त करने की मांग की है। धरना में नवल किशोर ¨सह, संतोष कुमार, महेश प्रसाद ¨सह, चंदन शर्मा, सुरेश प्रसाद सुमन, नरेन्द्र कुमार, अरविन्द कुमार, रामप्रकाश यादव, देवेश कुमार, राधा रमण प्रसाद, प्रमोद कुमार ¨सह, तेज नारायण ¨सह, जसवंत कुमार, किरण देवी एवं कंचन कुमारी सहित करीब 40 कर्मी शामिल थे।

Posted By: Jagran