समस्तीपुर। ताजपुर प्रखंड के रहीमाबाद में सोमवार को विधि-विधान से हनुमान अष्टयाम महायज्ञ प्रारंभ हुआ। इससे पूर्व चित्रसेन पोखर स्थित यज्ञ स्थल से गाजे-बाजे के साथ कलश शोभा यात्रा निकाली गई। इसमें शामिल 251 कन्याओं ने कलश में जल लेकर मुख्य मार्ग से भेरोखड़ा काली पोखर होते हुए पूजा स्थल पहुंचे। यहां वैदिक मंत्रोच्चार से कलश स्थापित किया गया। शोभा यात्रा में हाथी, घोड़े आकर्षण के केंद्र रहे। जय श्रीराम, जय हनुमान के जयघोष से माहौल भक्तिमय हो गया। इसके उपरांत कीर्तन मंडली द्वारा महामंत्र का जाप प्रारंभ किया गया। मौके पर पूर्व प्रखंड प्रमुख सुरेश राय, राज कुमार राय, रामबाबू राय, सुजीत कुमार, रणजीत कुमार, राज कुमार पंडित समेत श्रद्धालु मौजूद रहे।

उजियारपुर, संस: प्रखंड के रामचंद्रपुर अंधैल स्थित महादेव स्थान में सोमवार को विधि विधान से नौ दिनी शतचंडी महायज्ञ प्रारंभ हुआ। इससे पूर्व मंदिर प्रांगण से श्रद्धालुओं ने गाजे बाजे के साथ कलश शोभायात्रा निकाली। रायपुर पोखर से कलश में जल भरकर पूजा स्थल पहुंचे। यहां वैदिक मंत्रोच्चार से यज्ञ मंडल पर कलश स्थापित किया गया। जय माता दी के जयघोष से माहौल भक्तिमय हो गया। संध्या में वृंदावन के प्रसिद्ध आचार्य अरविद शास्त्री ने भागवत कथा का वाचन किया। ग्रामीणों में काफी उत्साह है। मौके पर महेश बाबा, मंटून बाबा, बैजू चौधरी, लालबाबू गिरि, मुकेश झा, सुनील पाठक, गणेश सिंह, रामा पासवान समेत काफी संख्या में श्रद्धालु मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप