समस्तीपुर, जागरण टीम। गेहूं की बोआई के लिए इस बार मौसम अनुकूल है। 15 नवंबर से बोआई शुरू हो चुकी है। बीज को लेकर किसानों में ऊहापोह की स्थिति है। सुखाड़ की समस्या झेलने वाले किसानों के लिए रबी का मौसम भी अनुकूल साथ नहीं दे रहा है। किसानों को रबी फसल की बुआई करने के लिए बीज भी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध नहीं है। ऐसे में किसानों को रबी फसल की बुआई करने के लिए बाजार के निजी दुकानदारों का सहारा लेना पड़ रहा है।

किसान ऊंची कीमत पर बाजार से बीज की खरीदारी करने के लिए मजबूर हैं। वर्तमान में मुख्यमंत्री बीज योजना के तहत 90 प्रतिशत के अनुदान पर किसानों को गेहूं बीज दिया जा रहा है। जिला कृषि कार्यालय के द्वारा जिले में एक लाख 28 हजार 500 हेक्टेयर रबी फसल की बुआई का लक्ष्य रखा गया है। जिले में रविवार तक 56 हजार 747 किसानों ने बीज के लिए आनलाइन आवेदन किया। इसमें से अब तक 16 हजार 197 किसानों को लगभग 4532.40 क्विंटल बीज का वितरण किया गया। इसके अतिरिक्त 40 हजार 550 किसानों द्वारा आनलाइन आवेदन करने पर भी बीज उपलब्ध नहीं कराया जा सका है।

ताजपुर प्रखंड के आधारपुर पंचायत निवासी युवा किसान ऋषभ यादव ने बताया कि बीज के लिए आनलाइन आवेदन किया था। लेकिन विभाग से पता चला कि बीज खत्म हो गई है। ऐसे में दुकान से ऊंची कीमत पर बीज लेने की मजबूरी बनी हुई है। खानपुर निवासी श्याम सुंदर चौधरी ने बताया कि बीज के लिए कई बार प्रखंड कृषि पदाधिकारी से शिकायत की है। लेकिन बीज उपलब्ध नहीं रहने की बात कही गई। शिकायत करने के बाद भी अब तक बीज उपलब्ध नहीं कराया जा सका है।

Edited By: Mohammed Ammar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट