समस्तीपुर । बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल द्वारा वाया नदी में पानी और भीषण बाढ़ आने की चेतावनी दिए जाने के बाद प्रशासन पूरी तरह सतर्क हो गया है। इसके लिए डीएम शशांक शुभांकर के नेतृत्व में अधिकारियों का एक दल वाया नदी के तटीय क्षेत्रों का निरीक्षण किया। इस दौरान पटोरी प्रखंड के तारा धमौन, हसनपुर सूरत, चकसलेम, बहादुरपुर पटोरी, शिउरा चकसाहो आदि क्षेत्र के तटीय भागों में अधिकारियों ने तटबंध का निरीक्षण किया तथा अधिकारियों को अलर्ट करते हुए कई निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि संभावित बाढ़ के लिए प्रशासन हर स्तर पर तैयार है और इसके लिए अधिकारियों को निर्देश दे दिया गया है कि वे हर क्षण इस विपदा से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार रहें। ज्ञात हो कि नेपाल के द्वारा पानी छोड़े जाने के बाद मुजफ्फरपुर तथा समस्तीपुर के कई क्षेत्रों में बाढ़ की विभीषिका उत्पन्न हो गई है। बाढ़ नियंत्रण विभाग के द्वारा चेतावनी दी गई है कि यह पानी वाया नदी में तेजी से फैल रहा है। छोड़े गए इस पानी को देर रात वाया नदी में आने की संभावना है। इसके तहत पदाधिकारियों को भी कई निर्देश दे दिया गया है। रविवार को डीएम शशांक शुभंकर के नेतृत्व में एसडीओ मोहम्मद शफीक, बीडीओ डॉक्टर नवकंज कुमार, सीओ चंदन कुमार तथा कई अधिकारी और कर्मी भी मौजूद थे। डीएम ने इन क्षेत्रों का निरीक्षण कर जलनिकास के रास्ते का मुआयना किया। इस क्षेत्र के लोगों को भी संभावित बाढ़ से आगाह किया है। एसडीओ को निर्देश दिया गया है कि वे सुरक्षित जगह को चिन्हित कर वहां पर्याप्त पानी, बिजली, शौचालय इत्यादि की व्यवस्था कर लें। साथ ही इसके लिए विभिन्न स्कूलों को भी चिन्हित कर वहां शौचालय वगैरह की व्यवस्था को देख लेने का निर्देश दिया गया है। डीएम ने वाया नदी से जुड़े विभिन्न क्षेत्रों से संबंधित बीडीओ और अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे हर क्षण इस विपदा से निपटने के लिए तैयार रहें।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस