समस्तीपुर। दलसिंहसराय, चुनाव के समय हर पार्टी और उसके प्रत्याशी क्षेत्र का विकास करने का आश्वासन देकर वोट मांगते हैं। वोटरों से अपने पक्ष में मतदान करने की अपील करते हैं। लेकिन चुनाव जीतने के बाद विकास की बात गौण हो जाती है। आम लोगों की समस्याएं भुला दीं जाती हैं दैनिक जागरण की ओर से उजियारपुर लोकसभा क्षेत्र के बसढि़या पंचायत के बैगन चौक पर आयोजित चौपाल में यह बात मौजूद लोगों ने कही। लोगों ने कहा कि वही प्रत्याशी अच्छा है जो जनता के बीच रहकर उसकी समस्याएं सुने और और उसका समाधान कराने की कोशिश करे। वादे तो चुनाव में सभी पार्टी और प्रत्याशी करते हैं लेकिन जीतने के बाद उन वादों को याद नहीं रखतें। सिर्फ बड़े और दबंग लोगों की बातों को सुना जाता है। वोट डालने वाला आम मतदाता विकास में पीछे छूट जाता है, या फिर उसे भुला दिया जाता है। चाहे किसानों को कृषि उपकरण पर अनुदान मिलने की बात हो या फिर बीजों पर मिलने वाला अनुदान। मूलभूत सुविधाएं यथा सड़क, बिजली, पानी, शिक्षा और स्वास्थ्य जैसे सवालों को भी हल नहीं करते। चौपाल में शामिल इंद्रजीत सिंह, देवेंद्र सिंह, संजय कुमार, रामाशीष सिंह, रामपुकार सिंह, महेश सिंह, रतिलाल सिंह, अरविद कुमार, रघुवीर सिंह आदि ने पंचायत में उच्च शिक्षा के लिए विद्यालय भवन और शिक्षकों की कमी की समस्या बताते हुए कहा कि इस दिशा में कोई काम नहीं हुआ है। चुनाव जीतने के बाद आज तक सांसद का दर्शन भी नहीं हुआ। चुनाव की चर्चा करते हुए लोगों ने कहा कि सबसे बड़ा सवाल सुरक्षा और रोजगार का है। शिक्षित युवाओं के लिए उस तरह के मौके और सुविधाएं नहीं है कि वह किसी तरह का स्वरोजगार कर सकें। भ्रष्टाचार और अफशरशाही से जनता आज भी परेशान है। जहां भी जाएं अफरशाही आपको हावी दिखेगा। अफरशाही के कारण ही कार्यालयों में भ्रष्टाचार है। इस बार भ्रष्टाचार और अफरशाही के विरोध में मतदान करेंगे। इन लोगों ने एक स्वर से कहा कि किसानों के लिए सिचाई की सबसे बड़ी समस्या है। उसका निदान होना चाहिए। सबों ने एक स्वर से कहा कि वे लोग खुद भी मतदान करेंगे और दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करेंगे। मतदान करते समय देशहित के साथ-साथ स्थानीय समस्याओं को हल करने वाला प्रत्याशी का ध्यान भी रखेंगे। कहते हैं लोग :

स्थानीय स्तर पर होने वाले विकास में किसानों की समस्याओं को प्राथमिकता देनी चाहिए। किसानों के लिए ढेर सारी योजनाएं चल रही है, जिसका लाभ किसानों को मिलना चाहिए।

रामपुकार सिंह बसढि़या हल्ट का विकास समुचित मापदंडों के आधार पर हो। इस हाल्ट पर वर्तमान में दो सवारी गाड़ी का ठहराव हो रहा है। लेकिन यहां पर एक्सप्रेस ट्रेनों का भी ठहराव होना चाहिए।

- देवेंद्र सिंह किसानों को खेती करने के लिए बीज और खाद में अधिक अनुदान देने की जरूरत है। उत्पादन का सही मूल्य किसानों को मिले, इसके लिए सरकार को व्यवस्था करनी चाहिए।

- दिलीप सिंह पंचायती राज व्यवस्था को सुदृढ करने की आवश्यकता है। योजना में बंदरबांट किया जा रहा है। पंचायत में जलमीनार है लेकिन पाइप लाइन नहीं होने के कारण लोगों को पानी नहीं मिल पाता। इसका समाधान होना चाहिए।

-हेमंत सहनी, मुखिया शिक्षित युवाओं के सामने सबसे बड़ी समस्या रोजगार की है। युवाओं के लिए रोजगारपरक शिक्षा की बेहतर व्यवस्था किया जाना जरूरी है।

-इंद्रजीत सिंह

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप