समस्तीपुर । शिवाजीनगर में बाढ़ विस्थापितों के लिए चिन्हित विद्यालयों में कम्युनिटी किचन संचालित होगा। इसके लिए संबंधित विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों को तैयार रहना है। बाढ़ पीड़ित भी विद्यालयों में शरण लेंगे। इसलिए स्कूल की चाबी क्या तो एचएम खुद रखेंगे या फिर रसोइया देंगे। जिससे तुरंत बाढ पीड़ितों को आश्रय स्थल के रूप में स्कूल उपलब्ध कराया जा सके। उक्त बातें जिला कार्यक्रम पदाधिकारी मध्याह्न भोजन योजना अवधेश प्रसाद सिंह ने कही। वे रविवार को शिवाजीनग, रोसड़ा, सिघिया, हसनपुर एवं बिथान के बीएओ, बीआरपी एवं मध्याह्न भोजन प्रभारी के साथ बैठक कर रहे थे। डीपीओ ने कहा कि जिलाधिकारी शशांक शुभंकर का स्पष्ट आदेश है कि विद्यालयों में कम्युनिटी किचेन संचालित किया जा सकता है। संभव है प्रधानाध्यापकों को ही इस कम्युनिटी किचेन चलाने की जबावदेही मिल सकती है। इसलिए सभी तैयार रहें। हालांकि बीईओ एवं बीआरपी ने पंचायत सचिव के माध्यम से कम्युनिटी किचेन चलाने का आग्रह किया। साथ ही कई प्रधानाध्यापकों ने बताया कि क्वारंटाइन सेंटर संचालित करने में जो खर्च हुआ, उसका आज तक भुगतान नही हो सका है। इस पर डीपीओ ने कहा कि वे आप की समस्या से जिलाधिकारी को अवगत करा देंगे। प्रखंड के बीआरसी भवन में पर आयोजित इस बैठक में पूर्व बीआरपी बालमुकुंद सिंह, प्रधानाध्यापक मृत्युंजय कुमार राय, त्रिभुवन यादव, देवानंद कामत, बिदेश्वर मंडल, कुवंर रंजीत, बिहारी दास, पवन कुमार सिंह सहित अन्य मौजूद थे। इसके अलावा संबंधित प्रखंडों के बीईओ एवं बीआरपी भी मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस