Move to Jagran APP

समस्तीपुर का यह स्कूल देश में है नंबर-1: एक सीट पर 302 से ज्यादा दावेदार, नीट से भी मुश्किल है यहां दाखिला

Navodaya Vidyalaya Birauli जवाहर नवोदय विद्यालय बिरौली में प्रवेश लेना मेडिकल एंट्रेंस की नीट परीक्षा से भी अधिक मुश्किल हो गया है। विद्यालय की 80 सीटों पर प्रवेश के लिए इस साल 24 हजार 207 आवेदन आए हैं यानी हर एक सीट पर 302.5 आवेदकों के बीच मुकाबला है।

By Prakash KumarEdited By: Prateek JainPublished: Sun, 26 Mar 2023 09:39 PM (IST)Updated: Sun, 26 Mar 2023 09:39 PM (IST)
देश के नम्‍बर-1 नवोदय विद्यालय का क्रेज ऐसा कि‍ एक सीट पर 302 बच्‍चे दावेदार।

समस्तीपुर, प्रकाश कुमार: जवाहर नवोदय विद्यालय बिरौली में प्रवेश लेना मेडिकल एंट्रेंस की नीट परीक्षा से भी अधिक मुश्किल हो गया है। विद्यालय की 80 सीटों पर प्रवेश के लिए इस साल 24 हजार 207 आवेदन आए हैं यानी हर एक सीट पर 302.5 आवेदकों के बीच मुकाबला है।

यह आंकड़ा सबसे कठिन माने जाने वाली नीट परीक्षा से भी 30 गुणा अधिक है। पिछले वर्ष देशभर में नीट की एक लाख 69 हजार 609 सीटों के लिए 18 लाख 72 हजार 339 आवेदन हुए थे यानी एक सीट पर 11 आवेदक थे। ऐसे में नवोदय विद्यालय बिरौली में इसके मुकाबले कई गुणा अधिक आवेदन आए हैं।

समस्तीपुर जिले ने देश में किया था टाॅप

जवाहर नवोदय विद्यालय छठी कक्षा में चयन प्रवेश परीक्षा का रजिस्ट्रेशन कराने में समस्तीपुर जिला ने देश में टॉप किया है। बिहार के समस्तीपुर जिले से 24 हजार 207 छात्रों का रजिस्ट्रेशन हुआ।

महाराष्ट्र का अहमदनगर जिला 22 हजार 848, छत्तीसगढ़ का राजनंदगांव से 20 हजार 800, महाराष्ट्र के नासिक में 18 हजार 930 और नंनदेद से 14 हजार 376 छात्रों का रजिस्ट्रेशन कराकर क्रमश: द्वितीय, तृतीय, चतुर्थ व पांचवां स्थान बनाया।

नवोदय विद्यालय समिति द्वारा टॉप 15 जिले की सूची जारी की थी। इसमें बिहार से एक मात्र जिला समस्तीपुर पूरे देश में प्रथम स्थान पर रहा।

परीक्षा में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले 80 छात्रों का होगा चयन

जवाहर नवोदय विद्यालय बिरौली के प्राचार्य टीएन शर्मा ने बताया कि यहां छात्रों को बेहतर शिक्षा दी जाती है। छात्र उत्कृष्ट प्रदर्शन की वजह से प्रत्येक वर्ष अच्छा कर रहे हैं।

इस बार जिले के 24 हजार 207 छात्रों ने छठी कक्षा में नामांकन के लिए रजिस्ट्रेशन किया है। अप्रैल में छात्रों की परीक्षा होगी। इसमें से 80 छात्रों का चयन किया जाना है।

जिला शिक्षा पदाधिकारी मदन राय ने बताया कि जिले के सभी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी एवं अलग-अलग विद्यालयों के प्रधानाचार्यों द्वारा कठिन परिश्रम के कारण ही यह संभव हो सका है। रजिस्ट्रेशन कराने के दौरान छात्रों की ललक अधिक देखी गई।

नवोदय से पढ़े छात्र बना रहे अलग पहचान

नवोदय विद्यालय बिरौली के पूर्ववर्ती छात्र एनएसजी के स्क्वाड्रन कमांडर सर्वेश कुमार सुमन ने कहा कि आज देश में हर जगह नवोदय के छात्र मिल रहे हैं।

नवोदय विद्यालय युवाओं के लिए सबसे बड़े प्लेसमेंट हब का काम कर रहा है। हर क्षेत्र में आज नवोदय में पढ़े छात्र अमिट छाप छोड़कर एक अलग पहचान बना रहे हैं।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.