सहरसा। बख्तियारपुर थाना क्षेत्र के वार्ड नंबर 13 भौरा गांव में विवादित जमीन पर जबरन किये जा रहे शौचालय टंकी निर्माण का विरोध किये जाने पर हुई मारपीट में महिला सहित तीनों बच्चे जख्मी हो गए। सभी जख्मियों का इलाज उनके परिजनों के द्वारा अनुमंडलीय अस्पताल में कराया गया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद सहरसा रेफर कर दिया गया। घटना चार जून की बताई गई है। घटना को लेकर पीड़ित महिला ने पड़ोस की महिला सहित कुल 13 लोगों पर मारपीट, दु‌र्व्यवहार तथा छीनाझपटी का आरोप लगाते थाना को आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई है।

पीड़ित महिला थाना क्षेत्र के भौरा वार्ड नंबर 13 निवासी गोपाल दास की पत्नी देवकला देवी ने अपने आवेदन में कहा है कि पुस्तैनी जमीन के आंगन में चार जून की सुबह गांव के सुमा दास, संजय दास, रंजीत दास, चांदनी देवी, मुन्द्रिका देवी, तिलिया देवी, नीलू कुमारी, प्रिस कुमार, कृष्णा कुमार, संजय दास, साक्षी कुमारी, बिट्टू कुमार जबरन शौचालय टंकी का निर्माण कार्य करने लगा। जिसका विरोध करने पर उनलोगों ने मुझे चारों ओर से घेर लिया मेरे सिर पर कुदाल से वार कर दिया। जिसमें मैं गंभीर रूप से जख्मी हो गई। हल्ला सुन मेरे बच्चे पुत्री अंजली कुमारी, नीतू कुमारी तथा चंदन कुमार ने मुझे बचाने का प्रयास किया तो उसके साथ भी मारपीट की गयी। जिसमें मेरे बच्चे भी जख्मी हो गए। मारपीट क्रम में दु‌र्व्यवहार भी किया गया और जेवरात भी छीन लिया गया। इधर घटना को लेकर पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है।

Edited By: Jagran