सहरसा। सहरसा-मानसी रेलखंड के बाबा रघुनी हॉल्ट पर शुक्रवार की देर शाम ट्रेन की चपेट में आने से महिला व उसके एक बच्चे की मौत हो गई। जबकि महिला का दो बच्चा गंभीर रूप से जख्मी हो गया। जिसे ग्रामीणों की मदद से सहरसा सदर अस्पताल भर्ती कराया गया। दोनों की हालत ¨चताजनक रहने पर दोनों बच्चों को निजी नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया है। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि बख्तियारपुर थाना के सिमरी पंचायत निवासी सनोज राम की पत्नी गुंजन देवी रोज की तरह लकड़ी चुनने के लिए बाबा रघुनी हॉल्ट पर अपने तीनों बच्चों के साथ गई थी। बच्चों को हॉल्ट के प्लेटफार्म पर खेलने हेतु छोड़कर पास में लकड़ी चुनने लगी इसी दौरान बच्चें खेलते-खेलते रेल पटरी पर चले गए। उसी वक्त समस्तीपुर-सहरसा की ओर जा रही पैसेंजर ट्रेन आने की आवाज सुनाई दी। जिसके बाद महिला बच्चों को खोजने लगी। महिला ने देखा कि सभी बच्चे पटरी पर खेल रहे हैं। जिसे देखकर वह बच्चों को बचाने पटरी की ओर दौड़कर पहुंची तबतक ट्रेन हॉल्ट पर पहुंच गई और बच्चों को बचाने के क्रम में वह भी ट्रेन की चपेट में आ गई। जिसमें गुंजन देवी (24) और उसकी पुत्री रौशनी कुमारी (8) की मौत घटनास्थल पर ही हो गई। जबकि दो अन्य बच्चे आशिक कुमार (3) और राहुल कुमार (2) गंभीर रूप से जख्मी हो गया। घटना की सूचना पर पहुंची बख्तियारपुर पुलिस ने माँ और बेटी के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सहरसा भेज दिया है ।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप