सहरसा, जागरण संवाददता : अहां आइ बड़ सुंदर लागि रहल छी, मन होइत अछि जे हम अहां स एक बेर फेर वियाह करितहुं..। पोखर मए नहायनै मना छै, हंसब थोड़े मना छै..। मैथिली फिल्म ललका पाग का यह संवाद कैसटों में सुनने को मिल रहा है। यह फिल्म 14 जनवरी को देश के सभी सिनेमाघरों में प्रदर्शित होगी। बुधवार को कोसी निवासी होटल में इस फिल्म का प्रमोशन किया गया। जिसमें दर्शकों को नारी जीवन में होने वाले दमनात्मक घटनाओं से मन को झकझोर देती है। मैथिली के प्रसिद्ध साहित्यकार स्व. राजकमल चौधरी की कहानी पर आधारित 'ललका पाग' में मैथिल नारी के त्याग, समर्पण व बलिदान को दर्शाया गया है। मैथिली फिल्म के विकास में गुजराती निर्माता रत्‍‌नेश साह ने बताया कि मैथिली भाषा व संस्कृति ने मुझे काफी प्रभावित किया। जिसके कारण मैथिली फिल्म का निर्माण का संकल्प लिया हूं। निर्देशक प्रशांत नागेन्द्र ने कहा सैकरेड फिग इंटरटेनमेंट के बैनर तले बने इस फिल्म में राजकमल चौधरी द्वारा लिखित ललका पाग की कहानी नारी संवेदनशीलता पर आधारित है। इस फिल्म में पहली बार नई तकनीकी को अपनाया गया है। जो अन्य मैथिली फिल्मों से अच्छी तरह दर्शाया गया है। उन्होने बताया कुणाल द्वारा लिखित सुमधुर गीतों को प्रसिद्ध संगीतकार सीताराम सिंह ने बड़ी लगन से तैयार किया है। जिसके कारण सा रे गा मा एचएमभी कंपनी ने इस कैसेट को जारी किया है। फिल्म के पीआरओ किसलय कृष्ण ने बताया कि इस फिल्म को कोसी तथा संपूर्ण मिथिलांचल एवं नेपाल के सभी सिनेमा घरों में 14 जनवरी को प्रदर्शित किया जाएगा। उन्होंने ने बताया कि इस फिल्म के साहित्यिक एवं नारी केन्द्रित रहने के कारण इसे राष्ट्रीय फिल्म फस्टिवल में अवार्ड हेतु सूचीबद्ध कराया जा रहा है। फिल्म में नायक की भूमिका रोशन राज, नायिका श्वेता वर्मा सह नायिका निर्मला एन गौतम, चरित्र भूमिका में प्रेमलता मिश्र प्रेम, रामसेवक ठाकुर, उमाकांत, कुंदन आदि की भूमिका दर्शकों का मन मोह लेती है। वहीं पाश्‌र्र्व गायन उदित नारायण व नंदिता चक्रवर्ती ने कर्णप्रिय संगीत से फिल्म में चार चांद लगा दिया है। इस मौके पर साहित्यकार केदारनाथ गुप्ता, प्रो. अरविन्द कुमार नीरज, कन्हैया, बबलू सिंह, अमित आनंद, रजनीश शेखर, भोगेन्द्र शर्मा आदि मौजूद थे।