जागरण संवाददाता,सासाराम:

दिल्ली के तिहाड़ जेल में पूर्व सांसद व राजद नेता शहाबुद्दीन की मौत के बाद जेल में बंद बंदियों के टीकाकरण पर उठ रहे सवाल के बीच एक अच्छी खबर यह है कि स्थानीय मंडल कारा के बंदियों का भी टीकाकरण शुरू किया जा चुका है। इस समय सासाराम जेल में 43 महिलाओं सहित कुल 1130 बंदी हैं, जिनमें से 130 बंदियों को कोरोना का प्रथम डोज टीका दिया जा चुका है। अगले चरण में अन्य बंदियों का भी टीकाकरण किया जाएगा।

जेल अधीक्षक राकेश कुमार ने बताया कि स्वास्थ विभाग और जिला प्रशासन के समन्वय से बंदियों के स्वास्थ्य जांच के बाद बंदियों को टीका देने का कार्य हो रहा है। कारा में बंदियों को योगाभ्यास और रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के अन्य कारगर उपाय किए जा रहे हैं। बंदियों के स्वास्थ्य को देखते हुए खान-पान की व्यवस्था पर कड़ी मानिटरिग जेल प्रशासन कर रहा है।

जेल में बंद कैदियों को संक्रमण से दूर रखने का हो रहा पूरा प्रयास:

इसके अलावा मंडलकारा में ड्यूटी पर तैनात सभी जेलकर्मियों को कोरोना गाइडलाइन का सख्ती से पालन कराया जा रहा है। जेल में कोरोना संक्रमण रोकने के लिए जेलकर्मियों को बार-बार साबुन से हाथ धोने, सैनेटाइजर और मास्क के प्रयोग सहित अन्य निर्देश दिये गए हैं। इस गाइडलाइंस का कड़ाई से पालन कराया जा रहा है।

सासाराम जेल में 74 की जांच में सभी रिपोर्ट निगेटिव:

जेल अधीक्षक के मुताबिक एक पखवारे पूर्व 70 जेल कर्मियों सहित चार बंदियों का आरटीपीसीआर जांच कराया गया था, जिसमें सभी की रिपोर्ट निगेटिव आयी थी। कैदियों की कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट जेल प्रशासन को राहत देने वाली खबर है। सासाराम जेल प्रशासन द्वारा बरती जा रही सावधानियों ने अब तक सासाराम मंडल कारा को कोरोना संक्रमण से दूर रखा है। विदित हो कि इस जेल में कई नक्सलियों समेत कुख्यात अपराधी बंद हैं।