जागरण संवाददाता, सासाराम : जिले में तेजी से फैल रहे कोरोना संक्रमण का असर अब वैक्सीनेशन व सैंपल संग्रहण पर भी दिखने लगा है। यही वजह है कि हाल के दिनों में टीका लेने वालों की संख्या में कमी आई है। स्वास्थ्यकर्मियों व चिकित्सकों के संक्रमित होने के कारण कई केंद्रों पर ताले लटके गए हैं। हालांकि स्वास्थ्य विभाग सभी केंद्रों पर टीकाकरण कार्य हो, इसे ले प्रयासरत है। सदर अस्पताल के अलावा जिले का कौन सा प्रखंड नहीं होगा, जहां के स्वास्थ्यकर्मी व चिकित्सक इसके चपेट में नहीं आए हैं। कोरोना संक्रमण के प्रसार को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने टीकाकरण कार्य में भी कटौती करने का निर्णय लिया है। जो स्थल संक्रमण की चपेट में आ गया है, वहां पर बुधवार को वैक्सीनेशन कार्य को नहीं कराने का फैसला लिया है।

डीआइओ डॉ. आरकेपी साहु ने बताया कि सदर अस्पताल व सदर पीएचसी के अधिकांश चिकित्सक व स्वास्थ्यकर्मी कोरोना की चपेट में हैं। जिसे देखते हुए इन दोनों स्थान पर बुधवार को टीकाकरण कार्य नहीं कराने का निर्णय लिया गया है। पूरी तरह सैनिटाइज्ड करने व वैकल्पिक व्यवस्था के बाद वैक्सीनेशन कार्य को शुरू किया जाएगा। कहा कि एक मई से 18 वर्ष से ऊपर के हर व्यक्ति को कोविड का टीका लगाया जाएगा, जिसकी तैयारी शुरू कर दी गई है। शत-फीसद व्यक्तियों को टीका लगे, इसे ले पंचायत स्तरीय जनप्रतिनिधियों से प्रचार-प्रसार के लिए सहयोग लिया जाएगा। सूत्रों की माने तो सासाराम शहर के बौलिया व तकिया शहरी स्वास्थ्य केंद्र पर भी कर्मियों को कोरोना संक्रमण होने के कारण वहां टीका कार्य प्रभावित हुआ है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021