रोहतास। एक वर्ष पूर्व स्थानीय डीईओ कार्यालय के प्रोन्नति शाखा में लगी आग की गुत्थी सुलझाने में पुलिस नाकाम रही है। एक वर्ष बाद भी घटना को अंजाम देने वालों की पहचान नहीं कर सकी है। वही विभाग भी गुत्थी को सुलझाने में कोई दिलचस्पी दिखा सका है। जिस कारण घटना का रहस्य जस का तस बरकरार है। आग किसने लगाई व क्यों..? इसे जानने के लिए लोग इंतजार में हैं। आज भी कमरे में मौजूद जले दस्तावेज के अवशेष हर किसी को याद दिलाते हैं।

ज्ञात हो कि गत वर्ष एक अगस्त को असामाजिक तत्वों ने डीईओ कार्यालय के प्रोन्नति शाखा में आग लगा दी थी। जिसमें नियोजित शिक्षकों की फोल्डर से संबंधित कागजात के अलावे नियमित शिक्षकों के प्रोमोशन व अन्य महत्वपूर्ण दस्तावेज जल कर राख हो गए थे। पुलिस ने मामले में अज्ञात के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज कर अनुसंधान शुरू की थी। अनुसंधान कार्य अब तक अंतिम मुकाम तक नहीं पहुंच सका है। वहीं विभाग ने त्वरित कार्रवाई करते हुए आदेशपाल सह नाईट गार्ड व विभागीय लिपिक को सस्पेंड किया था। इसके अलावा मामले की जांच एफएसल व निगरानी ने भी की थी।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप