रोहतास, जेएनएन। बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री जीतनराम मांझी ने नीतीश सरकार पर हमला बोला है। उन्‍होंने कहा कि नीतीश सरकार में अब बेटियां सुरक्षित नहीं रहीं। इस शासन में अपराधियों और दरिंदों का बोलबाला हो गया है। पुलिस-प्रशासन दोषियों को सजा दिलाने में पूरी तरह अक्षम है।

हिंदुस्‍तानी अावाम मोर्चा के मुखिया व पूर्व मुख्‍यमंत्री जीतन राम मांझी मंगलवार को रोहतास में थे। वे रोहतास जिला के शिवसागर प्रखंड अंतर्गत एक गांव में पीडि़त परिवार से मिलने पहुंचे थे। बता दें कि 18 अक्टूबर को घर में घुसकर दुष्कर्म के बाद किशोरी की हत्या कर दी गई थी।

पुलिस के रवैये पर क्षोभ जाहिर करते हुए जीतनराम मांझी ने कहा कि अब तो पुलिस ही अपराधियों को बचा रही। वह अदालत में समय से साक्ष्य प्रस्तुत नहीं करती। इससे पीडि़तों को  न्याय नहीं मिल पाता। उन्‍होंने कहा कि इस मामले में भी पुलिस का रवैया संतोषजनक नहीं है। इससे स्‍थानीय लोगों में आक्रोश है। 

बकौल मांझी, प्रदेश में आए दिन बेटियों के साथ वारदातें हो रही हैं। इससे नीतीश सरकार की कन्या उत्थान व केंद्र की बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान की हकीकत उजागर होती है। उन्‍होंने कहा कि दुष्कर्मियों के लिए मृत्युदंड की सजा का प्रावधान है, लेकिन बिहार पुलिस ने एक भी दोषी को फांसी दिलाने की कोशिश नहीं की। पुलिस जानबूझ कर अदालत में समय पर ठोस सबूत प्रस्तुत नहीं करती है। इससे अपराधियों को लाभ मिल जाता है। 

Posted By: Rajesh Thakur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप