सासाराम शहरी के अलावा जिले के तीन प्रखंडों में सोमवार से मिशन इंद्रधनुष-2.0 के दूसरे चरण का शुभारंभ किया गया। शहर के अठखंभवा स्थित एक आंगनबाड़ी केंद्र पर सिविल सर्जन डॉ. जनार्दन शर्मा ने बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाकर इसकी शुरुआत की। वहीं, गर्भवतियों को टीका भी लगाया गया।

सीएस ने कहा कि स्वस्थ व सुखद जीवन देना ही स्वास्थ्य विभाग का पहला काम है। टीकाकरण के अभाव में किसी बच्चे या गर्भवती का स्वास्थ्य प्रभावित न हो, इस पर चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मी पूरा ध्यान देंगे। किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। अभियान के बाद मार्च के अंत तक जिले का संपूर्ण टीकाकरण का आच्छादन लक्ष्य के 90 फीसद से अधिक होना चाहिए। इसलिए वैसे क्षेत्रों व परिवार के साथ संचार गतिविधि अवश्य करें। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी ने कहा कि प्रत्येक दिन शाम में ही रणनीति बनाएं और समुदाय को जागरूक करने में अन्य प्रभावशाली लोगों का समर्थन प्राप्त करें। सासाराम शहरी के अलावा नौहट्टा, नासरीगंज व काराकाट प्रखंड में इस अभियान को चलाया जा रहा है। उद्घाटन के दौरान टीका लगवाने से इन्कार करने वाली गर्भवती महिला पिकी देवी को टीडी व मुकेश राम की एक पुत्री नंदनी को एमआर का टीका डीआइओ डॉ. आरकेपी साहु व प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. केपी विद्यार्थी ने समझाकर लगाया। जबकि यूनिसेफ के एसएमसी असजद एकबाल सागर ने महिलाओं और बच्चे का टीकाकरण कराया। डीपीएम अजय कुमार, डीपीसी संजीव मधुकर, अनुश्रवण व लेखा पदाधिकारी ऋतुराज, निशात आलम समेत अन्य चिकित्सा अधिकारी व कर्मी उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस