दावथ, रोहतास। नगर पंचायत कोआथ में एक सप्ताह पूर्व हुई मारपीट में जख्मी नवाबगंज के युवक की इलाज के दौरान गुरुवार की देर शाम मौत से गुस्साए स्वजनों व ग्रामीणों ने शुक्रवार की सुबह शव को बभनौल अड्डा के पास एनएच 120 पर रख एनएच समेत आसपास के कई अन्य सड़कों को भी जाम कर दिया। लोग थानाध्यक्ष पर अविलंब कार्रवाई करने, स्वजनों समेत अन्य लोगों की रिहाई, सभी केस वापस लेने तथा मृतक की पत्नी को सरकारी नौकरी देने की मांग कर रहे थे। सुबह सात बजे से लगा जाम दोपहर बाद लगभग दो बजे मौके पर पहुंचे विधायक विजय कुमार मंडल व अधिकारियों की पहल पर हटाया जा सका।

प्रदर्शनकारियों का कहना था कि नगर पंचायत कोआथ में विगत दो जून को बाइक से एक व्यक्ति को लगे मामूली धक्का के चलते दो पक्षों के बीच विवाद उत्पन्न हो गया था। बात इतनी बढ़ी कि मामला हिसक रूप अख्तियार कर लिया। दोनों पक्ष के बीच जमकर ईट पत्थर के साथ डंडे चलने लगे, जिसमें आधा दर्जन लोग बुरी तरह से जख्मी हो गए थे। घायलों में नवाबगंज निवासी योगेंद्र सिंह का 26 वर्षीय पुत्र राजेश कुमार को चिताजनक स्थिति में पटना के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां कल देर शाम उसने दम तोड़ दिया। घटना में जख्मी हुए राजेश की नवविवाहिता पत्नी सरोजा देवी ने प्राथमिकी भी दर्ज कराई गई थी। मारपीट के दौरान कई चक्र गोलियां भी चली थी और जांच के दौरान पुलिस ने घटनास्थल से दो खोखा बरामद किया था। युवक की मौत की जानकारी मिलते ही क्षेत्र में रोष का माहौल कायम हो गया। गुस्साए लोगों ने आज सुबह सात बजे से ही बभनौल अड्डा एनएच 120 पर शव रख एनएच के अलावा पीरो-कोआथ पथ के चकचातर, कोआथ बंगला, देवगना, मलियाबाग चौक को जाम कर दिया। जिससे इन सड़कों पर यातायात पूरी ठप हो गया। स्वजन समेत जामकर्ताओं ने बताया कि पुलिस प्रशासन एकतरफा कार्रवाई कर रहा है। एसडीएम विजयंत व एसडीपीओ राजकुमार के अलावा विधायक विजय कुमार मंडल ने दोषियों को शीघ्र गिरफ्तार करने का आश्वासन दे किसी तरह जाम हटवाया। बाद में पहुंचे एसपी आशीष भारती ने बताया कि पुलिस किसी भी दोषी को नहीं बख्शेगी। दोनों पक्षों के लोगों के अलावा संबंधित अधिकारियों पर जांच कर विधिसम्मत कार्रवाई की जाएगी। अनाधिकृत रूप से आवागमन ठंप करने वाले लोगों पर भी कार्रवाई होगी। निर्दोषों को जांच कर केस से अलग किया जाएगा।

भैरोडीह गांव में दहेज को ले एक नवविवाहता की हत्या

दिनारा। रोहतास। थाना क्षेत्र के भैरोडीह गांव में गुरुवार की एक नवविवाहता की हत्या कर साक्ष्य मिटाने ने लिए शव को दफना दिए जाने का मामला सामने आया है। पुलिस ने भैरोडीह के बधार से उसका अधजला शव बरामद किया। मृतका 18 वर्षीया मंजू देवी भैरोडीह निवासी तूफान कुमार की पत्नी बताई जा रही है।

पुलिस के अनुसार करवंदिया निवासी दुर्गा चौधरी की पुत्री मंजू की शादी एक माह पूर्व भौरोडिह के तूफान कुमार के साथ हुई थी। मृतका के स्वजनों की सूचना पर पुलिस हरकत में आई और दफनाए हुए शव को बधार से बरामद करने में सफलता पाई। वहीं मृतका की मां धर्मशीला देवी के बयान पर दर्ज प्राथमिकी में बताया गया है कि शादी के बाद से हीं मंजू का पति तूफान कुमार व उसकी माता शिवराजो कुंअर मोटरसाइकिल के लिए दबाव बनाने लगे थे। मांग पुरा नहीं करने पर बेटी को जलाकर मार डाला और सुबूत मिटाने के लिए शव को आनन-फानन में सिवान में ले जाकर दफना दिय। पुलिस ने आवश्यक कार्रवाई पूरी कर शव को पोस्टमार्टम कराकर स्वजनों को सौंप दिया। थानाध्यक्ष सम्राट सिंह ने बताया की मृतका की मां के बयान पर मुकदमा दर्जकर आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए प्रयास किया जा रहा है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद हीं मौत का कारण स्पष्ट हो पाएगा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप