रोहतास। प्रखंड क्षेत्र के हंकारपुर गांव निवासी आंगनवाड़ी सेविका ज्योत्स्ना कुमारी को उनके द्वारा बहाली के दौरान जमा किया गया मैट्रिक अंक पत्र फर्जी पाए जाने पर चयनमुक्त कर दिया गया है। सेविका को चयन मुक्त करने का आदेश कार्यक्रम पदाधिकारी आइसीडीएस ने दिया है।  सीडीपीओ सीमा कुमारी ने बताया कि अगस्त माह में आमसभा कर सेविका का चयन किया गया था। जिसका फरवरी में एक माह तक आवासीय प्रशिक्षण आरा में कराया गया था। प्रमाण पत्र के सत्यापन में मैट्रिक का प्रमाण पत्र फर्जी निकला। जिसे ले कानूनी कार्रवाई की जा रही है। सीडीपीओ ने बताया कि वरीय अधिकारियों के निर्देश पर प्राथमिकी दर्ज कराई जाएगी।

बताते चलें कि प्रखंड में तिलोखर, नौहट्टा समेत कई जगहों से दो-दो अभ्यर्थियों को चयन पत्र देने के मामले को लेकर भी अभ्यर्थियों द्वारा डीपीओ के यहां आवेदन दिया गया है। लोगों का कहना है कि आंगनबाड़ी केंद्र के पर्यवेक्षक द्वारा चयन समेत अन्य कार्यों में हेराफेरी की जा रही है।

Posted By: Jagran