सासाराम (रोहतास) । पर्यटन को बढ़ावा देने का एक सशक्त माध्यम होता है महोत्सव। यह तभी संभव होता है जब हर किसी में सकारात्मक सोच हो। क्योंकि सकारात्मक सोच से किसी चीज के बारे में दूर-दूर तक अच्छी छवि का प्रचार-प्रसार होता है। शेरशाह सूरी ने जो धरोहर व विरासत हमें देकर गए हैं उसको संजोए कर रखना हम सब का पहला कर्तव्य है। उक्त बातें जिला मुख्यालय में आयोजित दो दिवसीय शेरशाह सूरी महोत्सव के पहले दिन के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डीएम धर्मेंद्र कुमार ने शनिवार को कही। महोत्सव की शुरूआत स्थानीय रेलवे स्टेशन से प्रभात फेरी निकाल की गई, जो शेरशाह रौजा तक पहुंचा। उसके बाद मल्टी परपस हाल में गोष्ठी सह मुशायरा का आयोजन किया गया, जहां पर कवियों व शायरों ने अपने प्रस्तुति से श्रोताओं को लोट-पोट किया। प्रभात फेरी में शेरशाह सूरी इंटर स्तरीय विद्यालय, उच्च विद्यालय चौखंडी पथ, श्रीशंकर इंटर स्तरीय विद्यालय तकिया, उच्च माध्यमिक विद्यालय रामेश्वरगंज, रमा जैन बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय, बाल विकास विद्यालय, संत जोसेफ स्कूल, संत पाल स्कूल समेत अन्य विद्यालयों के छात्रों के अलावा, एनसीसी कैडेट व भारत स्काउट गाइड शामिल थे।

मुशायरा कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डीएम ने कहा कि रोहतास जिला सांस्कृतिक व ऐतिहासिक धरोहरों से भरा-पूरा है,जिसकी पहचान व महत्ता राष्ट्रीय स्तर पर है। महोत्सव को यादगार बनाने के लिए शेरशाह की जीवनी पर आधारित कार्यक्रम को लेजर शो के माध्यम से प्रदर्शित किया जा रहा। लेजर शो इस कार्यक्रम का विशेष आकर्षण होगा।यही वजह रहा कि गत वर्ष केंद्रीय पर्यटन विभाग की अनुशंसा पर शिक्षा मंत्रालय ने देश के सौ पर्यटक स्थलों में सासाराम को भी शामिल किया है। इस अवसर पर डीडीसी शेखर आनंद, वरीय उपसमाहर्ता व कार्यक्रम प्रभारी अनु कुमारी, खुशबू पटेल, रश्मि सिंह, चेतनारायण राय, डीईओ संजीव कुमार, डीपीआरओ सत्यप्रिय कुमार, डीटीओ प्रवीण चंदन, सदर एसडीएम मनोज कुमार, सिविल सर्जन डा. अखिलेश कुमार, शिक्षा विभाग के डीपीओ अमरेंद्र कुमार गोड़, राघवेंद्र प्रताप सिंह, कार्यपालक दंडाधिकारी चंद्रमा राम, बीडीओ जानर्दन तिवारी, एसपी जैन कालेज के प्राचार्य प्रो. गुरुचरण सिंह, डा. विजय सिंह, जीएम अंसारी, अली हुसैन इद्रिसी समेत अन्य उपस्थित थे।

Edited By: Jagran