संवाद सूत्र, नासरीगंज : सोन नदी से प्रतिदिन सैकड़ों ट्रक-ट्रैक्टर अवैध बालू की निकासी किए जाने व ओवरलोडिग के खिलाफ ग्रामीण बुधवार को सड़क पर उतर गए। पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की व तीन घंटे से अधिक समय तक कैथी गांव के समीप बरडीहा-सिकड्डी स्टेट हाइवे 81 को जाम कर दिया। जिससे इस मार्ग पर आवागमन तीन घंटे तक प्रभावित रहा।

कैथी व आसपास के दर्जनों गांव के ग्रामीणों ने कहा कि बालू माफिया के कारण आए दिन दुर्घटनाएं हो रही है। जेसीबी से जहां सोन नदी में गड्ढा कर बालू की अवैध निकासी की जा रही है, वहीं ट्रक, ट्रैक्टरों व हाईवा से ओवरलोडिग बालू की ढुलाई की जा रही है। जिससे सड़क जर्जर हो गई है। गत दो माह में आधा दर्जन से अधिक लोगों की मौत बालू लदे वाहनों की चपेट में आने से हो गई। कैथी के ग्रामीण गौरव कुमार, गुड्डू चौधरी, धर्मेंद्र तिवारी, विजेंद्र पाल, विवेक सिंह, प्रकाश कुमार, सूर्यकांत कुमार समेत अन्य ने बताया कि बालू के अवैध खनन से कैथी-मंगराव पथ जर्जर हो गया है। ओवरलोड बालू लदे सैकड़ों ट्रैक्टर दिन रात दौड़ रहे हैं। सड़क की स्थिति ऐसी हो गई है कि उसपर पैदल चलना भी दूभर हो गया है। किसान अपने खेतों तक जाने में भी परेशान हो जा रहे हैं। ग्रामीणों ने बताया कि बालू माफिया इस सड़क को बर्बाद कर दिए हैं।गांव से कुछ ही दूरी पर स्थित कछवां थाना पर तैनात पुलिस अधिकारी मूक दर्शक बने हुए हैं।ग्रामीणों ने खनन विभाग, पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों से बालू निकासी के लिए अलग से रास्ता बनाने की बात कही है। सड़क जाम की सूचना पर पहुंचे बिक्रमगंज एसडीएम विजयंत, एसडीपीओ राजकुमार ने ग्रामीणों की समस्या सुन दोषियों पर कार्रवाई का आश्वासन दे सड़क जाम हटवाया । लगभग तीन घंटे तक इस मार्ग पर आवागमन प्रभावित रहा। एसडीएम ने बताया कि सोन नदी से अवैध बालू निकासी के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। ग्रामीणों की शिकायत पर त्वरित कार्रवाई की जाएगी । सड़क को नष्ट करने का अधिकार किसी को भी नहीं है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप