रोहतास। विभिन्न मांगों के समर्थन में अलग अलग कार्यालयों में तैनात कार्यपालक सहायकों ने बुधवार को काला बिल्ला लगाकर कार्य किया।

विद्युत कार्यालय में कार्यरत कार्यपालक सहायक आदिल खां ने बताया कि सेवा स्थायी करने , वेतनमान , ससमय वेतन भुगतान आदि की मांगों को लेकर बिहार राज्य कार्यपालक सहायक सेवा संघ, बिहार के आह्वान पर जिले भर के कार्यपालक सहायकों ने आज काला बिल्ला लगाकर काम किया। कहा कि संघ लंबे समय से ईपीएफ, सेवा अभिलेख राज्य कर्मी का दर्जा और दुर्घटना की स्थिति में बीमा का प्रावधान करने की मांग करते आ रहा है। लेकिन उनकी मांगों को सरकार अनदेखी कर रही है। आज से 10 जुलाई तक सभी कार्यपालक सहायक काला बिल्ला लगाकर काम करेंगे। 11से 15 जुलाई तक याद है न के तहत सोशल मीडिया और बैनर पोस्टर के माध्यम से मांगों को स्मारित किया जाना है। इसके बाद 16 जुलाई को कैंडल मार्च और 17 जुलाई 2020 को भिक्षाटन किया जाएगा। यदि 17 जुलाई तक हम सभी की मांगों की पूर्ति नहीं होती है तो 18 जुलाई से आगे का आंदोलन करने के लिए सभी कार्यपालक सहायक बाध्य होंगे। काला बिल्ला लगाकर अविनाश दीक्षित, आशीष उपाध्याय, आदिल खान, सुधिर कुमार, प्रेम कुशवाहा, मुकेश पांडेय, चंदन कुमार आदि ने काम किया।

मांगों को पूरा करने के लिए कार्यपालक सहायकों ने लगाया काला बिल्ला

जागरण संवाददाता, सासाराम : सेवा को स्थायी करने, वेतनमान व समय पर वेतन भुगतान सहित अन्य मांगों को लेकर बिहार राज्य कार्यपालक सहायक सेवा संघ से जुड़े कर्मियों ने बुधवार को काला बिल्ला लगाकर काम किया।

संघ के जिलाअध्यक्ष मुकेश कुमार सिंह ने बताया कि लंबे समय से ईपीएफ, सेवा अभिलेख, राज्य कर्मी का दर्जा और दुर्घटना की स्थिति में बीमा का प्रावधान करने की मांग करते आ रहे हैं, लेकिन उनकी मांगों को सरकार अनदेखी कर रही है। जिसे लेकर 8 से 10 जुलाई तक सभी कार्यपालक सहायक काला बिल्ला लगाकर काम करने का निर्णय लिया है। जिला मीडिया आलोक कुमार ने कहा कि कि 11 से 15 जुलाई तक याद है न के तहत सोशल मीडिया और बैनर पोस्टर के माध्यम से मांगों को स्मारित किया जाएगा। 16 कैंडल मार्च और 17 को भिक्षाटन किया जाएगा। यदि 17 जुलाई तक हम सभी की मांगों की पूर्ति नहीं होती है तो अगले दिन आंदोलन करने के लिए सभी कार्यपालक सहायक बाध्य होंगे। जिसकी सारी जवाबदेही बिहार प्रशासनिक सुधार मिशन सोसायटी की होगी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021