रोहतास। थाना क्षेत्र के बौलिया स्टेशन विशुनपुर गांव के पास सोमवार की रात बौलिया चुना पत्थर क्वायरी से जपला जाने वाली रोपवे ट्रॉली समेत गिर गया। संयोग से भीषण हादसा होतेहोते बचा। बौलिया से देवीपुर तक केबुल रोपवे के नीचे कुछ ग्रामीणों का घर भी है। जिसे क्षती होने की संभावना को ले आक्रोशित ग्रामिणों ने ¨वध्यवासिनी सप्लायर के ट्रैक्टर को क्षतिग्रस्त कर दिया। वहीं भीड़ का लाभ उठाकर असामाजिक तत्वों ने ट्रैक्टर की बैट्री खोल ली। साथ ही वहा रखे गैस कट्टर व ट्रैक्टर की ट्रॉली में रखे कई अनय सामान भी ले भागे। ग्रामीणों के आक्रोश को देख ¨वध्यवासिनी सप्लायर के कर्मचारी भाग खड़े हुए। मामले की सूचना पर पहुंचे थानाध्यक्ष शशी भूषण प्रसाद ने घटना का जायजा लिया।

जानकारी के अनुसार सोमवार की रात देवरी झारखंड से बौलिया चुना पत्थर खदान तक जाने वाली केबुल रोपवे को मां ¨वध्यवासिनी सप्लायर के लेबर मिस्त्री काट रहे थे। इसी बीच अचानक 15 नंबर के निकट नट-वोल्ट खुल जाने के चलते पूरा रोपवे केबुल ट्रॉली के साथ जमीन पर दो किलोमीटर तक गिर गया। जिससे हुई तेज आवाज पर तिलठिया, विशुनपुर आदि गांव के ग्रामीण दौड़ पड़े। वहीं कंपनी के कर्मचारियों ने आरोप लगाया है कि चार दिन पहले से अपराधियों द्वारा दो लाख रुपये की मांग की जा रही थी। पैसा नहीं देने पर 20-25 की संख्या में पहुंचे अपराधियों ने ट्रैक्टर में आग लगाकर क्षतिग्रस्त कर दिया।बताते चलें कि पहले के बकाए मजदूरी भुगतान को ले दो दिन पूर्व मजदूर व ¨वध्यवासिनी सप्लायर कर्मियों के बीच विवाद भी हुआ था। जिसका निपटारा बीडीओ बैजू मिश्र, थानाध्यक्ष शशीभूषण प्रसाद व सीओ बृजबिहारी कुमार ने किया था। थानाध्यक्ष ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है।

Posted By: Jagran