पूर्णिया। मौसम में बदलाव के साथ गुलाबी ठंड का एहसास होने लगा है।

इसे देखते हुए जिला मुख्यालय के मरंगा मोड़, कचहरी, भट्ठा बाजार सहित अन्य जगहों पर कंबल, डबल बेड कंबल, दरी, तकिया आदि की दुकानें फुटपाथ पर सज चुकी हैं।

ये दुकानें सजाने वाले अन्य राज्य से आकर प्रत्येक वर्ष ठंड के आगमन के साथ अपनी दुकानें लगा देते हैं। ये दुकानदार दिल्ली, उत्तरप्रदेश से आए हुए हैं जो लगभग चार महीने जिले में रहकर अपने सामान को बेच कर वापस अपने घर को चले जाते हैं। वही ठंड बढ़ने के साथ जिले में कश्मीर से व्यापारी वर्ग आया करते हैं लेकिन इस वर्ष नहीं आए हैं। उत्तरप्रदेश के व्यापारी रईस आलम कहते हैं कि हमलोग ठंड के समय में प्रत्येक वर्ष पूर्णिया आते हैं। पिछले वर्ष 15 से 16 लोग आए थे वहीं इस वर्ष 7 लोग ही आए हैं। इस वर्ष कम व्यापारी आने के आसार हैं।

पानीपथ से करते हैं खरीदारी

दुकानदारों ने बताया कि हमलोग पानीपथ से खरीदारी है लेकिन पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष कंबलों की क मत में काफी ज्यादा बढ़ोतरी हो गई है। एक तो ज्यादा कीमत देकर कंबल खरीदकर लाते हैं फिर सामान को लाने में भाड़ा भी काफी लग जाता है। जहां पर रहते हैं वहां का किराया अलग देना पड़ता है। इन सभी कारणों से व्यापारी नहीं आना चाहते हैं। पुराने दर पर ग्राहक मांगते है कंबल

जब ग्राहक कंबल खरीदारी करने के लिए दुकान पर आते हैं तो वो पिछले साल की कीमत में कंबल को मांगते हैं। आलम कहते हैं कि अभी पूर्णिया आए दस दिन हुए नाम मात्र के ग्राहक दुकान में पहुंच रहे हैं। उम्मीद है ठंड बढ़ने के साथ ग्राहक कंबल और अन्य जरूरी चीजों की खरीदारी करने के लिए दुकान पर आएंगे। वर्तमान में इन दुकानों पर कंबल एक हजार से 2500 प्रति पीस, दरी 350, तकिया 50 रुपये प्रति पीस उपलब्ध है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप