पूर्णिया। वित्तीय वर्ष 2016/17 तथा 2017/18 का बच्चों को अबतक किताबें खरीदने के लिए उनके खाते में राशि पहुंच नहीं पाई है। सहुरिया सुभाय मिलिक, चादपुर भंगहा, गंगापुर, मधुबन, रामनगर फरसाही, लादूगढ सहित कई अन्य जगहों के प्रारंभिक विद्यालयों में पढ़ने वाले छात्र राशि से वंचित हैं। विद्यालय प्रधान उन अभिभावकों से यह कहकर अपना पल्ला झाड़ लेते हैं कि करीब चार माह पूर्व उन्होंने बैंक में सारा काम करा दिया है।

सहुरिया सुभाय मिलिक के एक मध्य विद्यालय के प्रधानाध्यापक ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2018/19 में चेक संख्या 339774 के द्वारा 7 अगस्त 2018 को 68 छात्र-छात्राओं के पुस्तक मद में सूची एवं सीडी बनाकर 10 हजार 165 रुपये का चेक एसबीआइ चोपड़ा बाजार शाखा में जमा किया गया था। एसबीआइ ने 16 नवंबर 2018 को यूबीआइ की मिरचाईबाड़ी शाखा में उक्त राशि को स्थानांतरित कर दिया था। यूबीआइ ने उक्त राशि को विद्यालय शिक्षा समिति के खाते में भेज दिया। इसी प्रकार चेक संख्या 339783 के द्वारा 221 छात्रों के पोशाक मद के 1 लाख 49 हजार 900 सौ रुपये का चेक बैंक में जमा किया गया था, परंतु छात्रों के खाते में यूबीआइ मिरचाईबाडी शाखा की लापरवाही के चलते अबतक राशि नहीं पहुंची है। कई विद्यालयों के प्रधान ने बतया कि सीडी की सूची बनाकर जनवरी महीने में ही बैंक में जमा किया गया था, लेकिन अब तक छात्रों के खाते में राशि नहीं पहुंची है। किताब नहीं रहने से बच्चों का पठन पाठन प्रभावित हो रहा है। विद्यालयों के प्रधान व शिक्षकों से मिली जानकारी अनुसार बहुत कम बच्चों के पास ही पुरानी किताबें उपलब्ध हैं। बता दें कि किताब खरीदने के लिए कक्षा 1 के छात्रों को 120 रुपये, कक्षा 2 एवं 3 के छात्रों को 135, कक्षा 4 को 155, कक्षा 5 को 125, कक्षा 6 को 150, कक्षा 7 को 310 तथा कक्षा 8 के छात्रों के खाते में 295 रुपये दिए जाने का निर्देश प्राप्त है। संकुल समन्वयकों, विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों व शिक्षकों से मिली जानकारी अनुसार अभी भी 25 से 30 फीसद बच्चों का खाता नहीं खुल सका है। यूबीआइ, मिरचाईबाडी के शाखा प्रबंधक कहते हैैं अभी उनकी शाखा में सैकड़ों विद्यालयों के बच्चों के खाते में राशि अंतरण का कार्य लंबित है। धीरे धीरे निष्पादन किया जा रहा है। यूबीआइ कटिहार के शाखा प्रबंधक चंदन कुमार कहते हैं कि अबतक छात्रों के खाते में राशि नहीं पहुंचना गंभीर बात है। संबंधित बैंक प्रबंधन को राशि भुगतान हेतु कहा गया है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस