पूर्णिया। मंगलवार को मीरगंज के व्यवसायी पुत्र सत्यम कुमार के साथ हुई लूटपाट एवं गोलीकाड के 72 घटे से ज्यादा बीत जाने के बावजूद अपराधियों की गिरफ्तारी के विरोध में गुरुवार को घायल युवक के परिजन समेत मीरगंज बाजार के समूचे व्यवसायियों ने पूरे दिन दुकानों को बंद कर शातिपूर्ण ढंग से धरना प्रदर्शन किया। धरना प्रदर्शन के बाद व्यवसायियों ने धमदाहा पहुंचे एसडीओ राजेश्वरी पाडेय एवं एसडीपीओ को अपराधियों की जल्द गिरफ्तारी की माग करते हुए ज्ञापन सौंपा गया। धरना प्रदर्शन में शामिल व्यवसायी व घायल युवक सत्यम के परिजनों ने बताया कि पूर्णिया में कानून व्यवस्था पूरी तरह से चौपट हो गई है। जिसके चलते अपराधियों का मनोबल सर चढ़कर बोल रहा है। आए दिन अपराधी लूट की घटना को अंजाम दे रहे हैं। हर बार पुलिस आवेदन लेकर मामले को ठंडे बस्ते में डाल देती हैं। परिजनों ने बताया कि घटना के 72 घंटे बाद भी अपराधियों की अबतक गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। जिसको लेकर हमलोगों ने एक दिवसीय धरना प्रदर्शन कर एसडीओ व एसडीपीओ को एक सप्ताह के अंदर अपराधियों की गिरफ्तारी की माग की है। उन्होंने कहा कि अगर एक सप्ताह के अंदर लूटकाड और गोलीकाड में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं होती है तो हमलोग इसके विरुद्ध बड़ा जनादोलन करेंगे। किराना व्यापारी को गोली मारने की घटना के विरोध में मीरगंज के दुकानदारों ने विरोध स्वरूप अपनी दुकानों को बंद रखा। इस बंद की सबसे बड़ी खासियत यह रही की कई दुकान संचालकों ने खुद इस घटना के विरोध में अपनी दुकानों को बंद करा कर विरोध दर्ज कराया। लगातार बढ़ती घटनाओं को लेकर व्यापारियों में भी आक्रोश देखा गया। बंद के कारण सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। स्थानीय लोगों की यह भी शिकायत हैकी स्थानीय पुलिस अपराध को रोकने में पूरी तरह से विफल साबित हो रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस