पूर्णिया : मंगलवार को मीरगंज के व्यवसायी पुत्र को गोली मारकर लूट मामले के बाद जब मामले की जाच हेतु सीसीटीवी फुटेज खंगालने की बारी आई तो पता चला कि मीरगंज चौक पर लगा चारों सीसीटीवी कैमरा समेत डीवीआर एवं पूरी यूनिट गायब है। यहां कुछ महीने पूर्व ही सुरक्षा के दृष्टिकोण से सीसीटीवी कैमरा लगाया गया था। इस बावत स्थानीय व्यवसायियों ने बताया कि कुछ महीने पूर्व मीरगंज के तत्कालीन थानाध्यक्ष मेनका रानी के प्रयास से सुरक्षा के दृष्टिकोण से मीरगंज मुख्य चौक पर 4 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए थे। इसका उद्घाटन तत्कालीन एसडीओ पवन कुमार मंडल और डीएसपी एचएस फाखरी ने किया था। सीसीटीवी कैमरे लग जाने के बाद व्यवसायियों ने राहत की सास ली थी। लेकिन अब वह गायब और प्रशासन को इसकी जानकारी तक नहीं है। इस संबंध में पूछताछ शुरू की गई तो किसी ने कहा कि स्थानीय एक व्यक्ति के द्वारा वो कैमरा खोलवाया गया है। थानाध्यक्ष वरुण कुमार झा ने पहले तो बताया कि मुझे नहीं पता कि किसने कैमरों को वहा से हटाया है और बाद में उन्होंने ही बताया कि एक व्यक्ति द्वारा सीसीटीवी कैमरे को खोलकर मरम्मत के लिए भेजा गया है। इधर इस मामले पर स्थानीय व्यवसायियों ने पूरे मामले की जाच कर उचित कार्रवाई करते हुए पुन: सीसीटीवी कैमरे लगवाने की माग की है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस