पूर्णिया। जिले में सभी बाढ़ पीड़ित परिवारों को मुआवजा दिया जाएगा। बाढ व जलजमाव से हुई फसल क्षति का भी आकलन कर पीड़ित किसानों को मुआवजा दें। उक्त निर्देश जिले के प्रभारी मंत्री सह ऊर्जा मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव ने बुधवार को जिले के अधिकारियों को दिया है। बाढ को लेकर वे समीक्षा बैठक करने पूर्णिया आने वाले थे लेकिन ऐन वक्त पर उनका आगमन स्थगित हो गया और उन्होंने वीसी के माध्यम से अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। इस दौरान डीएम राहुल कुमार, एडीएम डी प्रौज्जवल सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। मंत्री ने कहा कि जिन लाभुकों का डाटा पीएफएमएस पोर्टल पर अपलोड नहीं हुआ है उनका भी डाटा वेरिफिकेशन कर जल्द से जल्द पोर्टल पर अपलोड करवाएं ताकि उनके खातों में समय से सहायता राशि भेजी जा सके। समीक्षा बैठक में मंत्री ने जिले में बाढ़ की स्थिति की जानकारी भी ली।

रुपौली के 11 पंचायतों के 9051 परिवार बाढ़ से हुए हैं प्रभावित

--------------------------------------------

इस दौरान डीएम राहुल कुमार ने बताया कि इस साल जिले में रुपौली प्रखंड के 13 पंचायत बाढ़ से प्रभावित हुए हैं जिसमें पांच पूर्ण रूप से व आठ पंचायत आंशिक रूप से प्रभावित हुए हैं। उन्होंने बताया कि रुपौली अंचल के 11 पंचायतों के 9051 परिवारों की सूची पीएमएफएस पोर्टल पर दर्ज है। शेष परिवारों को पीएमएफएस पोर्टल से जोड़ने की तैयारी की जा रही है। आपदा विभाग के द्वारा प्रभावित परिवारों के बीच जीआर राशि वितरण की प्रक्रिया शुरू हो गई है। आपदा विभाग अंचल से प्राप्त रिपोर्ट के आधार पर 2786 बाढ़ पीड़ित परिवारों को सहायता राशि भुगतान के लिए पहली सूची आपदा संपूर्ति पोर्टल पर भेजा जा चुका है। उन्होंने बताया कि बाढ़ के पानी में डूबने से रुपौली में तीन लोगों के साथ-साथ एक पशु की मौत हुई थी। सभी मृतकों के आश्रित को आपदा अनुग्रह अनुदान के तहत 4-4 लाख रुपए के चेक दिया जा चुका है। जबकि मृत पशु के मालिक को भी 30 हजार रुपए अनुदान के रूप में दिया गया है। अनुदान राशि के भुगतान के लिए जिलास्तरीय टीम का भी गठन किया गया है। उन्होंने बताया कि बाढ़ और नदियों से कटाव के कारण जिले में 150 सड़कें प्रभावित हुई है जिसकी लंबाई 42.735 किमी है। उसमें 12.243 किमी सड़क को दुरुस्त करवा दिया गया है।

साढे छह करोड़ की फसल का हुआ है नुकसान --------------------------------

जिलाधिकारी ने बताया कि बाढ़ के कारण रुपौली प्रखंड के 18 पंचायत के साथ-साथ भवानीपुर के तीन पंचायतों में 5705 हेक्टेयर में फसल प्रभावित हुई है। इसमें 5346 हेक्टेयर धान, 350 हेक्टेयर मक्का व 185 हेक्टेयर में सब्जी की फसल शामिल है। कृषि विभाग के किसान सलाहकार, कृषि समन्वयक के द्वारा प्रखंड क्षेत्र के सभी प्रभावित पंचायत में वास्तविक क्षति आंकलन का सर्वे के बाद 4819 हेक्टेयर में नुकसान का रिपोर्ट प्राप्त हुआ है। जिलाधिकारी ने बताया कि बाढ़ के कारण से रुपौली और भवानीपुर प्रखंड में 6 करोड़ 50 लाख से ज्यादा के फसल क्षति का अनुमान है।

कोविड से मृत 111 लोगों के बीच 4.44 करोड़ का हुआ है वितरण

----------------------------------------------

जिलाधिकारी ने प्रभारी मंत्री को जानकारी देते हुए बताया कि जिले में कोविड-19 से मृत अब तक 169 लोगों के लिए अनुग्रह अनुदान के लिए 6 करोड़ 76 लाख की राशि मिली है। जिसमें से 111 कोविड-19 से मृत लोगों के निकटतम आश्रितों को 4.44 करोड़ का वितरण किया जा चुका है। शेष 58 कोविड मृतकों के निकटतम आश्रितों को सहायता राशि भुगतान के लिए अंचल के माध्यम से जांच करवाया जा रहा है। समीक्षा बैठक के दौरान अपर समाहर्ता, प्रशिक्षु आईएएस, प्रभारी पदाधिकारी आपदा, जिला कृषि पदाधिकारी, कार्यपालक अभियंता पथ निर्माण व ग्रामीण कार्य विभाग आदि मौजूद थे।

Edited By: Jagran