पूर्णिया। जो पंचायत नवगठित नगर निकाय का हिस्सा बने हैं वहां के मतदाताओं का नाम आसन्न पंचायत चुनाव की मतदाता सूची से हटाया जाएगा। राज्य निर्वाचन आयोग से मिले निर्देश बाद जिला प्रशासन ने इसकी कवायद शुरू कर दी है। जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिलाधिकारी ने नव गठित नगर निकाय में शामिल मतदाताओं का नाम पंचायत चुनाव के लिए पूर्व से तैयार मतदाता सूची से हटाने का निर्देश संबंधित प्रखंड विकास अधिकारी को दिया है। साथ ही मतदाता सूची में संसोधन के लिए समय सीमा भी निर्धारित किया है। डीएम ने आगामी पांच अगस्त तक संसोधित मतदाता सूची पर दावा आपत्ति का निराकरण करने के साथ-साथ 10 अगस्त तक मतदाता सूची के संशोधन का काम पूरा करने का निर्देश दिया है। विदित हो कि धमदाहा, बनमनखी, भवानीपुर, रुपौली, अमौर, बायसी, कसबा और केनगर प्रखंड के 16 पंचायत नगर निकाय में शामिल हुए हैं।

मतदाता सूची से नाम हटाये जाने संबंधी सूचना सार्वजनिक स्थानों पर ढोल बजा कर लोगों को दी जाएगी तथा चुनाव के लिए उन्हें जागरूक किया जाएगा। पंचायत चुनाव में नव गठित नगर-निकाय वाले प्रखंड में सार्वजनिक स्थल, हाट -बाजार आदि में ढोल बजा कर मतदाताओं को जागरूक किया जाएगा। साथ ही पंचायत चुनाव के लिए मतदाता सूची को ग्राम पंचायत कार्यालय, प्रखंड कार्यालय के साथ-साथ जिला दंडाधिकारी कार्यालय में भी लगाया जाएगा ताकि मतदाता मतदाता सूची को देख सकें और अगर कोई दावा-आपत्ति हो तो दावा कर सकें। ग्राम पंचायत निर्वाचन क्षेत्र की सूची संबंधित पंचायत व प्रखंड कार्यालय,पंचायत समिति के लिए प्रखंड कार्यालय व जिला परिषद के लिए संबंधित प्रखंड कार्यालय एवं जिला दंडाधिकारी कार्यालय में लगवाने के निर्देश दिया है। जिले के 230 पंचायत के 3119 वार्डों के लिए होना है चुनाव जिले में आठ नए नगर निकाय का गठन करने के साथ-साथ बनमनखी और कसबा नगर पंचायत को उत्क्रमित कर नगर परिषद बनाया गया है। नए नगर पंचायत में धमदाहा, मीरगंज, रुपौली, भवानीपुर, जानकीनगर, चंपानगर, बायसी और अमौर को नगर पंचायत बनाया गया है। आठ नए नगर निकाय के गठन के बाद जिले में 16 पंचायत पूर्ण रूप से व दो पंचायत आंशिक रूप से प्रभावित हुआ है। जिस कारण जिले में इस बार 246 पंचायत की जगह 230 पंचायत के 3119 वार्ड में ही चुनाव का आयोजन किया जाना है। पंचायती राज विभाग के द्वारा 230 पंचायत के 3119 वार्ड के हिसाब से ही चुनाव की तैयारी कर रही है। पंचायत में 3225 मतदान केंद्र बनाये जाएंगे जिसमें से 3119 मूल मतदान केंद्र व 106 सहायक मतदान केंद्र होंगे। वहीं कोरोना काल की दूसरी लहर शुरू होने और नए नगर इकाई का अधिसूचना जारी होने से पहले राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देश पर पूर्व में 246 पंचायत के आधार पर वार्ड वार मतदाता सूची का निर्माण किया गया था।

Edited By: Jagran