पूर्णिया। स्वास्थ्य व्यवस्था पर लगातार उठ रही अंगुली के मद्देनजर डीएम के आदेश पर बुधवार को धमदाहा डीसीएलआर ने रेफरल अस्पताल का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान सभी स्वास्थ्यकर्मियों में हड़कंप मच गया। जर्जर भवन एवं चिकित्सकों की कमी पर ¨चता जताते हुए यहां तत्काल इनकी जगह की रिपोर्ट उपर भेजने की बात कही।

ज्ञात हो कि पिछले दिनों हुई घटनाओं से सहमे तथा जांच के लिए वरीय पदाधिकारियों के लगातार आने से सहमे स्वास्थ्यकर्मी जैसे ही डीसीएलआर की गाड़ी कैंपस में घुसी सभी स्वास्थ्यकर्मियों में हड़कंप मच गया। सभी अपनी-अपनी ड्यूटी पर तैनात दिखे। सबसे पहले वे इमरजेंसी वार्ड में गए। वहां के बाद वे दवा वितरण कक्ष, ओपीडी, एक्स-रे कक्ष, शौचालय आदि का निरीक्षण किया। भवन देख वे काफी ¨चतित दिखे तथा कहा कि यह भवन अब रहने लायक नहीं है। यहां रेफरल एवं पीएचसी को लेकर कुल 15 पद चिकित्सकों के लिए सृजित है परंतु मात्र एक चिकित्सक के रहने पर उन्होंने ¨चता जताई। महिला वार्ड में चादर का बुधवार को हरा रंग नहीं रहने पर टोका तथा कहा कि आगे से जिस दिन जिस रंग की चादर बिछाने का निर्देश है उसका पालन किया जाए। उन्होंने कहा कि यहां साफ-सफाई पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है। इस अवसर पर चिकित्सा प्रभारी डा. नीरज कुमार, डा. बाबर अली, डा. नवीन कुमार, डा. पीडी चौहान, डा. संजय कुमार मिश्र, रूपेश कुमार, बीएचएम शकील अंसारी, एचएम अनिल कुमार, आशा मैनेजर धर्मेंद्र कुमार सहित सभी स्वास्थ्यकर्मी मौजूद थे।

Posted By: Jagran