पटना बाढ़। भदौर थाने के शोभाटीका गाव में ससुराल आये एक युवक की हत्या का मामला प्रकाश में आया है। पुलिस ने बभनिया नदी से रविवार को युवक का शव बरामद किया। जिसकी पहचान नालंदा के सरमेरा साकिन सेनडीहा निवासी रमाशकर चौहान के रूप में हुई। थानाध्यक्ष ने बताया कि युवक के भाई अंगिश चौहान ने ससुर डमर चौहान सहित आठ लोगों के खिलाफ हत्या की प्राथमिकी दर्ज कराई।

जानकारी के अनुसार, सेनडीहा व शोभाटीका गाव दो किमी. की दूरी पर है। पिछले एक माह से रमाशकर चौहान अपने गांव सनडीहा से ससुराल शोभाटीका आता-जाता रहता था। आठ अक्टूबर की रात ससुराल में उसकी बदमाशों ने बेरहमी से हत्या कर दी और साक्ष्य छिपाने की नीयत से शव को नदी में फेंक दिया गया। नदी में शव तैरने के बाद घटना की जानकारी लोगों ने पुलिस को दी।

सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने शव को नदी से बाहर निकाला। पुलिस ने शव के पोस्टमॉर्टम के लिए बाढ़ भेज दिया है। इस बीच पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। गाड़ी लूट मामले में नहीं मिला कोई सुराग,

संस, फुलवारीशरीफ : शनिवार की देर रात सचिवालय थाना के हज भवन पटना के पास से स्कार्पियो सवार बदमाशों ने चालक अमित कुमार को बंधक बनाकर मजारो गाड़ी लूट मामले में पुलिस को 24 घटे बाद भी कोई सुराग हाथ नहीं लगा है। बताया जा रहा है कि लूटी गई गाड़ी में जीपीएस लगा था, जो गाड़ी मालिक दीपक कुमार के मोबाइल से कनेक्ट था। जब मालिक को गाड़ी लूट की सूचना मिली तो अपने मोबाइल से जीपीएस बंद कर दिया। उधर, अचानक गाड़ी बंद होने पर लुटेरों को यह समझते देर नहीं लगी कि इसमें जीपीएस लगा है। लुटेरों ने उसका कनेक्शन काटकर जीपीएस बाहर फेंक दिया। गाड़ी का अंतिम लोकेशन जहानाबाद था। शनिवार की रात बदमाश गाड़ी लूटकर चालक को एम्स के पास छोड़कर फरार हो गए थे। फुलवारीशरीफ थानेदार रफीकुर्रहमान ने बताया कि अगर गाड़ी मालिक जीपीएस को बंद नहीं करते तो गाड़ी आसानी से पकड़ी जा सकती थी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप