जागरण संवाददाता, पटना : बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) की ओर से 67वीं प्रारंभिक पुनर्परीक्षा के लिए बनाए गए केंद्रों पर 30 सितंबर को परीक्षा होगी। केंद्रों पर परीक्षा के दिन सुबह 11 बजे के बाद प्रश्न पत्र पहुंचेगा। प्रश्न पत्र स्टील के बक्से में भेजे जाएंगे। इसमें विशेष प्रकार का ताला लगा होगा ताकि गड़बड़ी तुरंत पकड़ी जा सके। परीक्षा केंद्रों पर जैमर भी लगा रहेगा। शनिवार को राज्य के सभी जिलों से आए नोडल अधिकारियों की बैठक आयोग के चेयरमैन अतुल प्रसाद की अध्यक्षता में हुई। उन्हें परीक्षा के दौरान, पहले और बाद में बरती जाने वाली सावधानियों के बारे में बताया गया। 

आयोग के संयुक्त सचिव सह परीक्षा नियंत्रक अमरेंद्र कुमार ने बताया कि राज्य के सभी जिलों में 1,153 केंद्रों पर परीक्षा होगी। परीक्षा के लिए छह लाख से अधिक अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है। परीक्षा केंद्रों पर सुबह 10 से 11 बजे तक अभ्यर्थियों को इंट्री दी जाएगी। इसके बाद 11 से 11:30 बजे तक प्रश्न पत्र स्टील बाक्स में परीक्षा केंद्रों पर पहुंचाए जाएंगे। प्रश्न पत्र बुकलेट हाल में ही खुलेंगे, जबकि परीक्षा के बाद हाल से ही उत्तर पुस्तिकाओं को सील किया जाएगा।

  • - परीक्षा केंद्रों पर 11 बजे के बाद स्टील बाक्स में पहुंचेगा प्रश्न पत्र
  • - 30 सितंबर को आयोजित होनी है 67वीं बीपीएससी पुनर्परीक्षा

परीक्षा केंद्रों की संख्या जारी

बीपीएससी की ओर से 67वीं संयुक्त परीक्षा के लिए ई-प्रवेश पत्र जारी करने के बाद अब जिलावार परीक्षा केंद्रों की संख्या कोड के साथ जारी की गई है। दरअसल, आयोग की ओर से पूर्व में जारी प्रवेश पत्रों में कई परीक्षा केंद्रों की पहचान नहीं हो पा रही थी। इसके बाद जिलावार परीक्षा केंद्र कोड की सूची जारी कर दी गई।

पालीटेक्निक कालेज प्राध्यापकों के लिए 27 को परीक्षा

राज्य के पालीटेक्निक कालेजों में प्राध्यापकों की नियुक्ति के लिए बीपीएससी की ओर से 27 सितंबर को परीक्षा होगी। परीक्षा केंद्रों पर जैमर के अतिरिक्त छात्रों की आइरिस कैप्चर करने की व्यवस्था रहेगी।

Edited By: Akshay Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट