पटना : दो दिवसीय दौरे पर आई विश्व बैंक की टीम ने शुक्रवार की सुबह रिवरफ्रंट डेवलपमेंट (आरएफडी) के तहत चल रहे कार्यो का निरीक्षण किया। कलेक्ट्रेट घाट से मुआयना शुरू किया। साथ ही निर्माण कार्य को संतोषप्रद बताया। साथ ही कहा कि निर्माण कार्य बेहतर ढंग से हो रहा है, लेकिन रखरखाव बहुत जरूरी है। तभी अधिक संख्या में लोग रिवरफ्रंट पर आकर मां गंगा के दर्शन कर सकेंगे। निरीक्षण के दौरान बुडको के अधिकारी और इंजीनियर भी साथ थे।

बुडको के अधिकारियों ने विश्व बैंक की टीम को बताया कि आरएफडी के तहत 20 घाटों का निर्माण किया जाना है। इनमें से 16 बनकर तैयार हो चुके हैं। बाकी के चार घाटों में एक गायघाट है। वहां गंगा एक्सप्रेसवे उतर रहा है। इस कारण घाट का निर्माण नहीं हो पाएगा। इसके अलावा भद्र घाट, महावीर घाट और नौजर घाट के टाइम एक्शन परमिशन (समय कार्रवाई की अनुमति) के लिए भारत सरकार के नमामि गंगे परियोजना को पत्र भेजा गया है। अनुमति मिलने के बाद कार्य शुरू हो जाएगा। इसे अगले वर्ष जून तक पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित है। टीम इन तीन घाटों पर भी पहुंची। यहां किसी तरह का अतिक्रमण या विवाद नहीं मिला।

इसके बाद विश्व बैंक की टीम ने पहाड़ी में चल रहे सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) कार्य, टीवी टावर के हाउस कनेक्शन और सीवेज पंपिंग स्टेशन का निरीक्षण किया। इन सभी योजनाओं को मार्च 2020 तक पूरा करने का लक्ष्य है। बुडको ने टीम को बताया कि हाल में शहर में हुए जल जमाव को ध्यान में रखकर पहाड़ी एसटीपी का निर्माण किया जा रहा है। जलजमाव के कारण संप जाम नहीं हो और स्टेशन सुचारु रूप से कार्य करता रहे, इसके लिए प्लिंथ लेवल से 1.5 मीटर ऊंचा बनाया जा रहा है। निरीक्षण के दौरान विश्व बैंक की ओर से विशेषज्ञ उपनीर सिंह, एसके जैन व राकेश कुमार मौजूद थे।

गौरतलब है कि आरएफडी के तहत बुडको ने 2014 में निर्माण कार्य शुरू किया था। इसे 2019 में पूरा कर लिया गया। 314 करोड़ की लागत से 5.5 किलोमीटर तक घाट, पाथवे, कम्युनिटी सेंटर (राजा घाट पर), इको सेंटर (कलेक्ट्रेट घाट पर), आडियो विजुअल थिएटर (गांधी घाट पर), वाच टावर चबूतरा, रंगीन लाइटिंग समेत अन्य कार्य किए गए। बुडको ने रिवर फ्रंट का काम पूरा कर पटना नगर निगम को सौंप दिया है। इन स्थानों की साफ-सफाई निगम करवा रहा है। भविष्य में सांस्कृतिक कार्यक्रम कराने का भी प्रस्ताव है। इस पर निगम के साथ बैठक की जाएगी। विश्व बैंक की टीम नगर निगम और नगर विकास विभाग के सचिव से भी मुलाकात करेगी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस