पटना, जेएनएन। पूरा देश कोरोना से फैल रहे संक्रमण के डर से अपने घरों में स्वजनों के साथ है। राजधानी पटना ही नहीं पूरी दुनिया में कोरोना ने कोहराम मचा रखा है। कोरोना का कहर ऐसा है कि सड़कों पर दूर-दूर तक कोई दिखाई नहीं दे रहा है। मुसीबत के इस घड़ी में भी अपनी जान की परवाह किए बिना पटना में पुलिसकर्मी, निगम कर्मी, डॉक्टर, नर्स, गैस वेंडर, विद्युत कर्मी, डिलेवरी ब्वॉय ड्यूटी पर डटे हैं। ऐसे ही योद्धाओं में से एक हैं गर्दनीबाग महिला थानाध्यक्ष आरती जायसवाल।

जवानों के साथ बांटती हैं फूड पैकेट

आरती जायसवाल सुरक्षा जिम्मा उठाने के साथ मुश्किल की इस घड़ी में जरूरतमंद लोगों के बीच राहत सामग्री पहुंचा रही हैं। आरती खुद ऐसे सामाजिक संगठनों से संपर्क करती हैं जो जरूरतमंदों के बीच खाद्य सामग्री बांटना चाहते हैं। फिर उनसे खाद्य सामग्री लेकर वे हर रोज तीन घंटे पुलिस के पांच जवानों के साथ शहर के गांधी मैदान, पटना जंक्शन, सचिवालय जैसे इलाकों में सैकड़ों जरूरतमंदों के बीच फूड पैकेट बांटती हैं।

लोगों को संक्रमण से बचने की देर रहीं सीख

आरती के साथ ही कुछ सामाजिक संगठन भी इस नेक कार्य में अहम भूमिका निभा रहे हैं। आरती अपने एक कंधे पर कानून-व्यवस्था बनाए रखने की जिम्मेदारी तो दूसरे कंधे पर सामाजिक जिम्मेवारी की भूमिका बखूबी निभा रही हैं। वे लोगों को कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए जागरूक भी कर रही हैं। वे कहती हैं कि फूड पैकेट बांटने के दौरान कुछ ऐसे भी लोग मिलते हैं जो रो पड़ते हैं। ऐसे लोगों की हालत देखकर बहुत दुख होता है लेकिन हम उन्हें हौसला देते हैं।

सुरक्षा है हमारी पहली प्राथमिकता

आरती कहती हैं, मुसीबत की इस घड़ी में स्थानीय पुलिस अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। जवान हर समय जनता के साथ खड़े हैं। लोगों की सुरक्षा हमारी पहली प्राथमिकता है। लोगों से अपील करते हैं कि वे अपने घरों में रहकर कोरोना के खिलाफ जंग जीतने में सहयोग करें। साथ ही उन सभी लोगों का आभार व्यक्त करते हैं जो इस मुश्किल घड़ी में जरूरतमंदों की सहायता के लिए जुटे हुए हैं।

Posted By: Akshay Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस